डायबिटीज रोगियों के लिए रामबाण है ये पत्‍तियां, नियमित सेवन से कंट्रोल रहेगी शुगर

Sahjan is useful in diabetes in hindi: सहजन को सामान्यत: सब्जी बनाकर खाया जाता है। इसमें कई औषधीय गुण होते हैं, जो की ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती है। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आप अपने ब्लड शुगर की लगातार जांच करने के साथ-साथ अपनी डाइट में ऐसी चीजों को शामिल करें जो कि आपकी शुगर लेवल को कंट्रोल करें।

ब्लड शुगर के मरीजों को दवा के साथ-साथ स्वस्थ्य आहार और जीवनशैली ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती है। आपको बता दें कि सहजन और इसकी पत्तियां ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मददगार होती हैं। आइए जानते हैं डायबिटीज के रोगियों को सहजन से कैसे फायदे मिलते हैं….

सहजन में होते हैं ये गुण

सहजन में कई औषधीय गुण होते हैं, जिसका इस्तेमाल सदियों से रोगों के इलाज में किया जाता है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि सहजन के तने, पत्ते, छाल, फूल, फल और कई अन्य भागों का अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है। क्योंकि सहजन का पेड़ जड़ से लेकर फल तक बहुत ही गुणकारी होता है। सहजन में एंटीफंगल, एंटीवायरल, एंटी डिप्रेसेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं।

इसके अलावा सहजन कई तरह से खनिजों से भरपूर होता है। यह कैल्शियम का नॉन- डेयरी स्रोत है। इसमें पोटेशियम, जस्ता, मैग्नीशियम, आयरन, तांबा, फास्फोरस और जस्ता जैसे अन्य पोषक तत्व भी शामिल होते हैं।

​ब्लड शुगर लेवल के लिए कैसे है गुणकारी

डाटिशियन के अनुसार सहजन के पत्तों में क्लेरसेटिन होता है जो एक एंटीऑक्सिडेंट होता है। जो कि रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। दरअसल, सहजन में एक अन्य एंटीऑक्सीडेंट क्लोरोजेनिक एसिड होता है जो खून में शकर के लेवल को कंट्रोल करता है। साथ ही इसमें पाया जाने वाला क्लोरोजेनिक एसिड शरीर को बेहतर बनाता है और इंसुलिन को प्रभावित करने में मदद करता है।

सहजन में एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है जो पाचन समस्याएं जैसे कब्ज, गैस्ट्रिटिस और अल्सरेटिव कोलाइटिस को दूर करने में मदद करता है।

सहजन को आहार में इस तरह करें शामिल

सहजन के बीज और पत्तियों का इस्तेमाल तीन अलग-अलग तरीकों से किया जा सकता है। पत्तियों को कच्चा, पाउडर या जूस के रूप में सेवन किया जा सकता है। सहजन के पत्तियों को पानी में उबालकर इसमे शहद और नींबू मिलाकर भी सेवन किया जा सकता है।

इसके अलावा सहजन का इस्तेमाल सूप और करी में भी हो सकता है। नियमित एक चम्मच या लगभग 2 ग्राम सहजन की खुराक लेनी चाहिए। डायबिटीज रोगियों को सही खुराक जानने के लिए डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण सहजन ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है। डायबिटीज रोगियों को नियमित इसका सेवन करना चाहिए।

नोट: ( यह लेख सामान्य जानकारी के आधार पर लिखा गया है। किसी भी तरह का प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्टर या एक्सपर्ट से जानकारी जरुर लें)

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password