Sagar Rana Murder Case: बेइज्जती का बदला लेने के चक्कर में हुई धनखड़ की हत्या, जानिए उस रात की पूरी कहानी

sushil kumar

नई दिल्ली। पहलवान सागर धनखड़ हत्या मामले में सुशील कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी के बाद रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं। आज कुछ और चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। मालूम हो कि 4 मई को पहलवान सागर धनखड़ की हत्या कर दी गई थी। जांच में पता चला है कि सुशील कुमार ने बेइज्जती का बदला लेने के लिए हरियाणा से गुंडे बुलाए थे। इन गुंडो ने सागर के साथ मारपीट की जिसमें उसकी मौत हो गई। आईए जानते हैं कि आखिर उस दिन ऐसा क्या हुआ था?, क्या है घटना की रात की कहानी।

कुछ लोगों ने सुशील का कॉलर पकड़ लिया था

दरअसल, वारदात वाले दिन कुख्यात गैंगस्टर काला जेठेड़ी के ममेरे भाई, सोनू, रविन्द्र और अन्य का मॉडल टाउन वाले फ्लैट को लेकर पहलवान सुशील से झगड़ा हो गया था। इस दौरान इन लोगों ने पहलवान सुशील का कॉलर पकड़ लिया। नौबत ये आ गई कि वहां से सुशील कुमार को दौड़कर भागना पड़ा। इस घटना के बाद सुशील ने तैश में आकर उसी दिन अपनी बेइज्जती का बदला लेने का मन बनाया और इसके लिए उसने कुख्यात नीरज बवाना और असौदा गिरोह के बदमाशों से संपर्क किया।

अपमान का बदला लेने के लिए घटना को दिया अंजाम

पुलिस के अनुसार घटना वाले दिन जब सुशील छत्रसाल स्टेडिम पहुंचे थे तो उसके साथ ज्यादा पहलवान नहीं थे। स्टेडियम में अचानक उनकी सोनू, सागर, अमित, भक्तु, रविन्द्र और विकास से कहासुनी हो गई। इन सब ने मिलकर सुनील के साथ हाथापाई की। जिसके बाद सुशील वहां से भाग गए, हालांकि उन्होंने तुरंत अपमान का बदला लेने का मन बना लिया। सुशील ने अपने साथियों के साथ मिलकर नीरज बवाना और असौदा गैंग के लोगों से संपर्क किया और उन्हें हरियाणा से दिल्ली बुला लिया। दिल्ली आने के बाद सभी ने पहले शराब पी और खाना खाया।

पहले पहलवानों को किया गया अगवा

खाना खाने के बाद सभी लोग 5-6 कार में सवार होकर देर रात 12 बजे शालीमार बाग में रविन्द्र के घर पर पहुंचे। रविन्द्र उस समय अपने घर के नीचे एक दुकान के सामने खड़ा होकर आइसक्रीम खा रहा था। रविन्द्र को वहां से अगवा कर लिया गया। इसके बाद सभी लोग मॉडल टाउन स्थित सोनू के फ्लैट पर पहुंचे। वहां से सोनू, सागर, अमित और भक्तु को कार में बैठाकर सभी को छत्रसाल स्टेडियम ले जाया गया। स्टेडियम के पार्किग में रात करीब 1 बजे हरियाणा से आए बदमाशों ने छह पहलवानों को घेरकर लाठी, डंडे, रॉड और हॉकी से हमला कर दिया। सभी लोगों को गुंडों ने जानवरों की तरह पीटा। पुलिस ने कोर्ट में बताया कि इन लोगों को पेशाब पिलाने की भी कोशिश की गई थी।

धारदार हथियार से किया गया था हमला

इस हमले में सबसे ज्यादा चोट सागर को लगी थी। जिसके उसे रात करीब 3 बजे BJRM अस्पताल ले जाया गया। उसकी हालत की गंभीरता को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे ट्रामा सेंटर में शिफ्ट किया लेकिन सुबह सवा 7 बजे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। सागर धनखड़ के पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि उस पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। क्योंकि उसके शरीर पर 1 से 4 सेंटीमीटर के गहरे जख्म मौजूद थे। छाती और पीठ पर 5×2 cm और पीठ पर 15×4 cm के जख्म पाये गए थे। डॉक्टरों का कहना है कि सागर की मौत सिर पर किए गए वार की वजह से हुई है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password