Sachin Tendulkar: 12 सालों तक रात को नहीं सो पाते थे, मैच से पहले ही कर लेते थे बैग पैक

Sachin Tendulkar

नई दिल्ली। आम से लेकर खास तक सभी लोग मानसिक तनाव के दौर से गुजरते हैं। इसमें खिलाड़ी भी शामिल हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया के महानतम बल्लेबाजों में से एक सचिन तेंदुलकर ने भी कई सालों तक मानसिक दबाव को झेला है। सचिन ने एक इंटरव्यू में इसका खुलासा करते हुए बताया कि उन्हें 10 से 12 सालों तक मैच से एक रात पहले नींद नहीं आती थी।

मैच से पहले 12 सालों तक सो नहीं पाते थे सचिन

उन्होंने इंटरव्यू में कहा कि ‘मेरे करियर के 10 से 12 सालों के दौरान मैं मैच से पहले सो नहीं पाता था। मैं बिस्तर पर बस करवटें बदलता रहता था और मैच के बारे में ही सोचता रहता था। एक दशक के बाद मुझे एहसास हुआ कि शायद मैं इसी तरह मैच के लिए तैयार होता हूं। मैंने उस हालात से लड़ना बंद कर दिया। मैं मैच से पहले टीवी देखता था। साथ ही वो सब करता था जो मुझे मैच में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए मदद करता था।

मैच से पहले करते थे मानसिक तैयारी

सचिन ने अपने इंटव्यू में आगे बताया कि वे मैच से पहले शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक तैयारी भी करते थे। वे मैच से पहले शांत करने की कोशिश करते थे। तेंदुलकर ने बताया कि इन 10-12 सालों ने मैंने अपने बारे में काफी कुछ सीखा। मैं उन हालातों से निपटना सीखा जिसने मेरी काफी मदद की। मैंने खुद को हमेशा अच्छा प्रदर्शन करने के लिए पूरी तरह झोंका। लोग नहीं जानते थे कि मैं किसी तनाव से गुजर रहा हूं और मेरे दिमाग में क्या चल रहा है। ऐसे में मैं लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने की बजाय अपनी उम्मीदों पर फोकस करता था।

मैच से एक दिन पहले बैग पैक करते थे

सचिन तनाव से निकलने के लिए मैच से पहले चाय बनाते थे और कपड़े इस्त्री करते थे। उनके भाई ने तनाव से निकलने के लिए ये सब करने को कहा था। इसलिए सचिन मैच से एक दिन पहले ही समय काटने के लिए अपना बैग तैयार कर लेते थे। भारत के तरफ से अपना आखिरी मैच खलते हुए भी उन्होंने ऐसा ही किया था।

होटल कर्मचारी ने दी सलाह

तेंदुलकर ने इस दौरान एक और वाक्य का जिक्र किया। उन्होंने चेन्नई के एक होटल कर्मचारी का जिक्र करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति किसी से भी सीख सकता है। ‘एक दिन मेरे कमरे में एक होटल कर्मचारी डोसा लेकर आया और उसने मुझे सलाह दी। उसने बताया कि मेरे एल्बो गार्ड के कारण मेरा बल्ला मैच में पूरी तरह से नहीं चल रहा, यह वास्तव में सही तथ्य था। उसके इस सुझाव के कारण मैं इस समस्या से निकल पाया।

100 शतक लगाने का कारनामा

बता दें सचिन ने इतने दबाव के बावजूद इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने का कारनामा किया है। सचिन ने 200 टेस्ट और 463 वनडे मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया जिसमें उन्होंने 34 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password