Coronavirus In India: RT-PCR जांच निगेटिव आए लेकिन बरकरार रहें लक्षण तो क्या करें? AIIMS निदेशक ने दी यह सलाह

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus In India) की बढ़ती दर के बीच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि अगर RTPCR जांच में रिपोर्ट निगेटिव भी आए और लक्षण हों तब भी सावधानी बरतनी चाहिए। बता दें कोरोना का नया स्ट्रेन, कोविड के लिए तय टेस्ट- RTPCR को भी चकमा दे रहा है। फाल्स निगेटिव की संख्या बढ़ रही है. कई मामलों में ऐसा हो रहा है कि लक्षण होने के बाद भी लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आ रही है।

टेस्टिंग ज्यादा होने की वजह से रिपोर्ट आने में देरी हो सकती है

इस पर कोविड-19 टास्क फोर्स के सदस्य और AIIMS निदेशक डॉ. गुलेरिया ने कहा कि जांच निगेटिव आने के बाद भी जिन लोगों में कोविड के लक्षण हैं, उनका इलाज प्रोटोकॉल के तहत होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड का यह स्ट्रेन बहुत ज्यादा संक्रामक है। अगर कोई संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में 1मिनट के लिए भी आ जाए तो वह भी संक्रमित हो जा रहा है।

डॉक्टर क्लीनिको-रेडियोलॉजिकल डायग्नोसिस करें- AIIMS निदेशक

एम्स निदेशक ने कहा कि कोरोना मामलों की बढ़ती संख्या की वजह से भी टेस्ट रिपोर्ट आने में देरी हो रही है। ऐसे केसों में डॉक्टर क्लीनिको-रेडियोलॉजिकल डायग्नोसिस करें। अगर सीटी स्कैन में कोरोना के लक्षण दिखे तो कोविड प्रोटोकॉल के तहत इलाज शुरू करना चाहिए। गौरतलब है कि कोविड के लक्षणों में स्वाद और गंध महसूस ना होना, थकान होना, बुखार और ठंड लगना, एसिडिटी या गैस की दिक्कत होना, गले में खराश होना शामिल है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password