उत्तर प्रदेश में अवैध रूप से रह रहा म्यामां निवासी रोहिंग्या गिरफ्तार

लखनउ, छह जनवरी (भाषा) उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने प्रदेश के संतकबीर नगर में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर अवैध रूप से रह रहे म्यामां निवासी रोहिंग्या अजीजुल हक नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है और उसके पास से भारतीय पासपोर्ट बरामद किये हैं।

प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने पत्रकारों को बताया कि एटीएस को जानकारी मिली थी कि म्यामां निवासी रोहिंग्या अवैध रूप से भारत में प्रवेश कर सिद्धार्थ नगर-संत कबीर नगर क्षेत्र में रह रहा है ।

उन्होंने बताया कि जांच में यह पता चला कि अजीजुल हक, पुत्र मो. शरीफ (भारतीय दस्तावेजों के अनुसार अजीजुल्लाह पुत्र बदरे आलम) मूल रूप से म्यामां का रहने वाला है और फर्जी दस्तावेजों (राशन कार्ड, अंकपत्र एवं प्राथमिक पाठशाला का स्थानांतरण प्रमाण पत्र) के आधार पर इसने दो पासपोर्ट बनवाये हैं ।

अधिकारी ने बताया कि जांच में पता चला कि इन्हीं पासपोर्ट का इस्तेमाल कर इसने सऊदी अरब और बांग्लादेश की यात्रा भी की है । अधिकारी ने बताया कि 2017 में इसने अवैध रूप से अपनी मां, बहन और दो भाईयों को लेकर भारत आया । अधिकारी ने बताया कि उनके भी फर्जी दस्तावेज तैयार किये गए हैं ।

कुमार ने बताया कि यह भी जानकारी मिली कि कि अजीजुल्लाह के खाते में विभिन्न व्यक्तियों, फर्मों और विदेशों से काफी मात्रा में पैसा आया है, जिसकी जांच की जा रही है ।

अधिकारी ने बताया कि एटीएस ने बुधवार को इसे खलीलाबाद क्षेत्र से गिरफ्तार किया । उन्होंने बताया कि पकड़े गये अभियुक्त से प्राप्त जानकारी के आधार पर अन्य अन्य जनपदों में भो दबिश दी जा रही है और संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है ।

कुमार ने बताया कि पकडे गये अजीजुल हक के पास से दो भारतीय पासपोर्ट, तीन आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, म्यामां का राशन कार्ड तथा पांच बैंक खातों की पासबुक भी बरामद की गयी है ।

भाषा जफर नीरज रंजन

रंजन

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password