IED ब्लास्ट में शहीद जवान: पंचतत्व में विलीन हुआ रीवा का वीर शहीद, पूरे गांव ने नम आंखों से दी अंतिम विदाई

रीवा। प्रदेश के रीवा जिले के वीर जवान लक्ष्मीकांत द्विवेदी छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में शहीद हो गए थे। आज शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। गांव वालों ने शहीद को नम आंखों से अंतिम विदाई दी। शनिवार शहीद लक्ष्मीकांत अपने गांव बरछा में पंचतत्व में विलीन हो गए। बता दें कि बीते गुरुवार को छत्तीसगढ़ में आने वाले दंतेवाड़ा में आईईडी ब्लास्ट में एक जवान शहीद हो गया। CAF (छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स) की 22वीं बटालियन में पदस्थ लक्ष्मीकांत द्विवेदी रीवा के रहने वाले थे। लक्ष्मीकांत साथियों के साथ इंद्रावती नदी पर बन रहे पुल की सुरक्षा के लिए तैनात थे। बीते गुरुवार को दोपहर में भोजन के लिए बैठे थे, तभी एक जोरदार IED ब्लास्ट हुआ। यह ब्लास्ट इतना जोरदार था कि जवान के शरीर के चीथड़े उड़ गए थे। घटना मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर गीदम थाना क्षेत्र के पाहुरनार की है।

घर पर कुछ ही घंटों पहले की थी बात
यहां इंद्रावती नदी पर पुल बनाया जा रहा है। इसकी सुरक्षा के लिए CAF (छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स) 22वीं बटालियन के जवानों को कैंप लगाया गया था। इसी कैंप में लक्ष्मीकांत द्विवेदी भी शामिल थे। बता दें कि विस्फोट के कुछ घंटे पहले ही लक्ष्मीकांत ने अपनी दो नन्ही बेटियों से बात की थी। साथ ही अपने पिता को होली की छुट्टी पर आकर इलाज कराने का वादा भी किया था। उनके शहादत की खबर सुनकर लोगों की आंखें नम हैं। वहीं जिस पुत्र ने उनका इलाज करवाने का वादा किया था उसके शहादत की खबर पर अभी भी शहीद के पिता को विश्वास नहीं हो रहे है। उनकी दो बेटियां थी। बड़ी बेटी रुचि 7 साल की है और छोटी बेटी पारुल 3 साल की हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password