Remdesivir: अब मेडिकल स्टोर पर नहीं मिलेगा रेमडेसिविर इंजेक्शन, सरकार ने खरीद-बिक्री पर लगाई रोक

remdesivir

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच रेमडिसिविर इंजेक्शन की मांग काफी बढ़ गई है। इसी का नतीजा है कि कई राज्यों में इसकी कालाबाजारी भी शुरू हो गई है। ऐसे में केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने इस वैक्सीन को मेडिकल स्टोर से खरीद बिक्री करने पर रोक लगा दी है। अब रेमडेसिविर इंजेक्शन को सिर्फ हॉस्टिपटल में ही दिया जाएगा।

घरेलू उपचार के दौरान नहीं किया जाएगा इंजेक्शन का इस्तेमाल

नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने बताया कि रेमडेसिवर इंजेक्शन का इस्तेमाल अब घरेलू उपचार के दौरान नहीं किया जाएगा। अब इसका इस्तेमाल केवल अस्पतालों में ही किया जाएगा। डॉ पॉल के अनुसार यह इंजेक्शन उन मरीजों को दिया जाएगा, जो अस्पताल में भर्ती है और उन्हें ऑक्सीन पर रखा जा रहा है। यानी अब केमिस्ट के दुकानों से इसकी खरीद नहीं की जाएगी।

विशेषज्ञों ने क्या कहा था?

बतादें कि हाल ही में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच विशेषज्ञों ने राय दी थी कि रेमडेसिविर इंजेक्शन को होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को भी दी जाए। इसके बाद कई लोग केमिस्ट की दूकान से इंजेक्शन खरीदने लगे थे। इस कारण से जरूरतमंद मरीजों को इंजेक्शन नहीं मिल पा रही है। लेकिन अब केंद्र सरकार ने साफ किया है कि इंजेक्शन उन मरीजों को ही दिया जाएगा, जो अस्पताल में भर्ती है।

पॉल ने लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी

डॉ. पॉल ने रेमडिसिवर के इस्तेमाल को लेकर भी लोगों से सावधानी बरतने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि ये एक इमरजेंसी दवा है। जिसका इसतेमाल बस इमरजेंसी में ही होना चाहिए। अगर कोई बस इस लिए इसे खरीद रहा है कि जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल किया जाएगा, तो ये सही नहीं है। रेमडेसिवर का तर्कसंगत और जायज उपयोग होना चाहिए।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password