हिंदू राव अस्पताल, निगम के कुछ अन्य अस्पतालों में कोविड-19 टीकाकरण का पूर्वाभ्यास

नयी दिल्ली, छह जनवरी (भाषा) दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल और निगम के कुछ अन्य अस्पतालों में बुधवार को कोविड-19 टीकाकरण के लिए पूर्वाभ्यास किया गया। अधिकारियों ने इस बारे में बताया।

उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के मेयर जयप्रकाश ने कहा कि टीकाकरण शुरू होने पर अपनायी जाने वाली सभी प्रक्रिया को पूर्वाभ्यास के दौरान परखा गया।

उन्होंने कहा, ‘‘एनडीएमसी इलाके में हिंदू राव अस्पताल और कस्तूरबा अस्पताल को पूर्वाभ्यास के लिए चुना गया था। टीकाकरण के लिए सुबह में पूर्वाभ्यास हुआ। मैंने हिंदू राव में इंतजामों का जायजा लिया।’’

जयप्रकाश ने कहा कि हिंदू राव अस्पताल में टीकाकरण के पूर्वाभ्यास में 34 लोगों को शामिल किया गया।

अस्पतालों के स्वागत कक्षों में, एक प्रतीक्षा कक्ष बनाया गया है जहां लोग आएंगे और कोविन ऐप पर नामों के सत्यपान के बाद उनका टीकाकरण होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘एक आपात कक्ष बनाया गया है और उसमें टीकाकरण के पहले लोगों को टीके के संबंध में तथा किसी प्रतिकूल असर के बारे में जानकारी दी जाएगी और किसी तरह की जटिलता पर नजर रखी जाएगी।’’

दोनों अस्पताल उत्तरी दिल्ली नगर निगम क्षेत्र के तहत आते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हिंदू राव में 900 बेड हैं और 50 बेड वाले स्वाइन फ्लू वार्ड को टीकाकरण केंद्र के लिए चिन्हित किया गया है।’’ उन्होंने कहा कि इस तरह के 1,000 केंद्र बनाए जाएंगे जिनमें से 600 से ज्यादा केंद्र एनडीएमसी इलाके में होंगे।

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) के अधिकारियों ने भी कहा कि बुधवार को पूर्वाभ्यास होना है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।

एसडीएमसी इलाके में इस कवायद के लिए एमसीडब्ल्यू हरिनगर, पॉलीक्लीनिक मादीपुर, एमसीडब्ल्यू बिजवासन, एमएच श्रीनिवास पुरी, एमसीडब्ल्यू फतेहपुर बेरी और एमसीडब्ल्यू डिफेंस कॉलोनी को चुना गया है।

टीकाकरण के लिए पहला पूर्वाभ्यास राष्ट्रीय राजधानी में तीन स्थानों पर शनिवार को हुआ था।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शनिवार को कहा था कि कोविड-19 टीका उपलब्ध होने पर राजधानी के लोगों को निशुल्क इसकी खुराक दी जाएगी और कहा था कि दिल्ली सरकार ने टीकाकरण अभियान के लिए सारी तैयारियां की है।

राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 टीकाकरण के लिए ऐसे केंद्र बनाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है और पहले चरण में 500 केंद्र बनाए जाएंगे। टीके को दो से आठ डिग्री सेल्सियस के तापमान पर रखने के लिए फ्रीजर के साथ भंडारण क्षमता की भी व्यवस्था की जा रही है। कुल 1,000 टीकाकरण केंद्र बनाए जाएंगे ।

भाषा आशीष नरेश

नरेश

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password