छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन के कारण आई सड़क दुर्घटनाओं में कमी

रायपुर, छह जनवरी (भाषा) छत्तीसगढ़ में वर्ष 2020 में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण सड़क दुर्घटनाओं में लगभग 18 फीसदी की कमी आई है। राज्य में वर्ष 2020 में सड़क दुर्घटनाओं में 4546 लोगों की मृत्यु हुई है, जो वर्ष 2019 से 9.13 फीसदी कम है।

छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि राज्य में वर्ष 2020 (जनवरी से दिसम्बर 2020 तक) में 11,431 सड़क दुर्घटनाओं में 4546 लोगों की मृत्यु हुई है तथा 10,478 लोग घायल हुए हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2019 की तुलना में वर्ष 2020 में सड़क दुर्घटनाओं में 17.75 प्रतिशत, मृतकों में 9.13 प्रतिशत और घायलों में 19.95 प्रतिशत की कमी आई है।

उन्होंने बताया कि लेकिन राज्य में वर्ष 2019 की तुलना में फरवरी-2020 में 9.27 प्रतिशत, अगस्त में 6.09 प्रतिशत, सितम्बर में 16.45 प्रतिशत, अक्टूबर में 3.39 प्रतिशत, नवम्बर में 14.70 प्रतिशत, और दिसम्बर में सड़क दुर्घटना और मृत्यु दर में 21.16 प्रतिशत वृद्धि हुई है। अर्थात लॉकडॉउन समाप्त होने के बाद दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है।

राज्य के विशेष पुलिस महानिदेशक (योजना और तकनीकी सेवा) आर के विज कहते हैं कि आंकड़ों पर नजर डालें तो पाएंगे कि राज्य में लॉकडाउन के दौरान सड़क दुर्घटनाओं और उनमें होने वाली मौतों की संख्या में कमी आई है।

विज कहते हैं कि वर्ष 2020 में मार्च से जुलाई के दौरान जब लॉकडाउन था तब सड़क दुर्घटनाओं में उल्लेखनीय कमी आई है। हांलाकि इस दौरान पुलिस के यातायात प्रबंधन ने भी दुर्घटनाओं को कम करने में मदद की है।

राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2020 में सड़क दुर्घटनाओं में रायपुर, गरियाबंद, धमतरी, बेमेतरा, मुंगेली, दन्तेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर, नारायणपुर में मृत्यु दर में वृद्धि हुई है जबकि शेष जिलों में कमी आई है।

उन्होंने बताया कि राज्य में मोटरयान अधिनियम के तहत यातायात नियमों के उल्लंघन करने वालों के खिलाफ वर्ष 2020 में (जनवरी से दिसम्बर-2020 तक) कुल 3,20,659 प्रकरणों मे चालानी कार्रवाई कर 10,03,31,600 रूपय शुल्क वसूल किया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि राज्य में अधिकांश सड़क दुर्घटना तेज गति से वाहन चलाने, गलत दिशा में वाहन चलाने, शराब पी कर वाहन चलाने, बिना हेलमेट और बिना सीट बेल्ट के वाहन चलाने तथा सड़क में गलत तरीके से खड़े वाहनों से टकराने से हो रही है।

भाषा संजीव

शोभना

शोभना

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password