RBI MPC Meet August 2022 : RBI ने दिया झटका, बढ़ जाएगी लोन की EMI, रेपो रेट बढ़कर 5.4 हुआ

RBI MPC Meet August 2022 : RBI ने दिया झटका, बढ़ जाएगी लोन की EMI, रेपो रेट बढ़कर 5.4 हुआ

मुंबई। आम आदमी पर एक RBI बार फिर महंगाई की Reserve Bank of India मार पड़ने वाली है। FINENCE NEWS वो इसलिए क्योंकि भारतीय MP HINDI NEWS रिजर्व बैंक आरबीआई ने शुक्रवार को खुदरा महंगाई को काबू में लाने के लिये नीतिगत दर रेपो Repo Rate को 0.5 प्रतिशत बढ़ाकर 5.4 प्रतिशत कर दिया। इससे कर्ज की मासिक किस्त बढ़ेगी। साथ ही RBI MPC BIG BREAKING मौद्रिक नीति समिति एमपीसी ने नरम नीतिगत रुख को वापस लेने पर ध्यान देने का भी निर्णय किया है। मौद्रिक नीति समिति एमपीसी की तीन दिन की बैठक में किये गये निर्णय की जानकारी देते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा। एमपीसी ने आम सहमति से रेपो दर Rapo rate 0.5 प्रतिशत बढ़ाकर 5.4 प्रतिशत करने का निर्णय किया है। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था ऊंची मुद्रास्फीति से जूझ रही है और इसे नियंत्रण में लाना जरूरी है। दास ने कहा, मौद्रिक नीति समिति ने मुद्रास्फीति को काबू में लाने के लिये नरम नीतिगत रुख को वापस लेने पर ध्यान देने का भी फैसला किया है। आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष के लिये आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को 7.2 प्रतिशत पर बरकरार रखा है।साथ ही केंद्रीय बैंक ने खुदरा महंगाई दर चालू वित्त वर्ष में 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान बरकरार रखा है।

आपकी ईएमआई में होगा इजाफा

रेपो रेट में इस बढ़ोतरी का बोझ बैंक अपने ग्राहकों पर डालेंगेण् इससे सीधे.सीधे आपके लोन की किस्त बढ़ जाएगी। यानी होम लोन के साथ.साथ आपके पर्सनल लोन और यहां तक कि ऑटो लोन की ईएमआई में भी इजाफा होगाण् उदाहरण के लिए अगर आपने 20 लाख रुपये का होम लोन लिया है और उसकी अवधि 20 साल की है तो आपकी किस्त 16,112 रुपये से बढ़कर 16,729 रुपये पर पहुंच जाएगी। आइए जानते हैं कि लोन पर ब्याज दर .5 फीसदी बढ़ जाने पर ईएमआई पर क्या फर्क पड़ेगा।

Bank Account Safety : स्मार्ट फोन पर ये चीजें रखने वाले हो जाएं सतर्क, अकाअंट हो सकता है खाली, तुरंत करें डिलीट

Bank Closed In August 2022 : अगस्त में 18 दिन बैंकों में ठप्प रहेगा काम, कहीं आपकी भी न बढ़ जाए परेशानी, यहां देखें लिस्ट

एक अनुमान के अनुसार आप 10 लाख, 20 लाख या इससे ज्यादा का लोन लेते हैं तो आपकी ईएमआई पर कितना असर पड़ सकता है। इसके लिए इस तरह से अनुमान लगा सकते हैं।

रकम अवधि ब्याज दर किस्त (रुपये में) संशोधित दर   किस्त (रुपये में) बढ़ोतरी (रुपये में)
10 लाख रुपये 20 साल 7.5%  8,056 8%  8,364 308
20 लाख रुपये 20 साल 7.5% 16,112 8% 16,729 617
30 लाख रुपये 20 साल 7.5% 24,168 8% 25,093 925

 

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password