Rape In Delhi: दलित बच्ची से कथित दुष्कर्म मामले का राजनीतिकरण राहुल गांधी की ‘ओछी राजनीति’ का प्रमाण: नड्डा

j p nadda

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने राजधानी दिल्ली में नौ साल की एक बलात्कार पीड़िता दलित बच्ची के माता-पिता की तस्वीर ट्विटर पर साझा करने के लिए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया और उनके इस आचरण को उनकी ‘‘ओछी’’ राजनीति का जीता जागता प्रमाण करार दिया।

ज्ञात हो कि दलित बच्ची की कथित तौर पर दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी। राहुल गांधी ने बच्ची के परिजनों से मुलाकात के बाद उनके माता-पिता की तस्वीर ट्विटर पर साझा की थी। भाजपा ने इसे यौन अपराध से बच्चों की सुरक्षा (पॉक्सो) कानून का उल्लंघन करार देते हुए राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

बाद में ट्विटर ने राहुल गांधी समेत कई कांग्रेस नेताओं का ट्विटर अकाउंट बंद (ब्लॉक) कर दिया था। भाजपा ने आज फिर से राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट बंद किए जाने की मांग की। पार्टी ने कहा कि राहुल गांधी ने दावा किया था उन्होंने बच्ची के परिजनों की सहमति के बाद उनकी तस्वीर साझा की थी, जबकि उसकी मां ने दावा किया है कि राहुल गांधी ने ऐसी कोई सहमति नहीं ली थी।

केरल के कोझिकोड में पार्टी के जिला कार्यालय का उद्घाटन करने के बाद नड्डा ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए अपने संबोधन में कहा कि दिल्ली में एक बच्ची के साथ पिछले दिनों जो अमानवीय कृत्य हुआ, उसकी जितनी निंदा की जाए वह कम है, लेकिन इसका राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए था।

उन्होंने कहा, ‘‘संवेदनशीलता नगण्य हो, घमंड भरपूर हो और बेपरवाह जीवन शैली के साथ राजनीति में काम करने की आदत हो तो, ना नियम की चिंता होती है ना कानून की।’’उन्होंने कहा, ‘‘हम सब लोग जानते हैं कि बिना परिवार के इजाजत के उनकी तस्वीर सार्वजनिक करना और बाद में झूठ बोलना…आज जब पीड़िता की मां न सब कुछ सार्वजनिक कर दिया है तो यह उनकी (राहुल गांधी) ओछी राजनीति का जीता जागता प्रमाण है।’’

नड्डा ने कहा कि राहुल गांधी का आजकल ‘‘राजनीतिक पर्यटन’’ केरल में चल रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे दुख होता कि कुछ लोग राजनीतिक पर्यटक बनकर केरल जाते हैं। अमेठी से हारे तो वायानाड पहुंच गए। लेकिन प्रदेश बदल देने से नीयत और भावनाएं नहीं बदलतीं।’’

इस बीच, भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी इस मामले में राहुल गांधी पर निशाना साधा और मांग की कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष का ट्विटर अकाउंट फिर से बंद किया जाना चाहिए। राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में पात्रा ने कहा, ‘‘राहुल गांधी ने अपनी विश्वसनीयता खो दी है और वह आदतन झूठे हैं। जनता ने इनका (कांग्रेस) राजनीतिक अकाउंट बंद कर दिया है और अब ट्विटर को उनका अकाउंट बंद कर देना चाहिए।’’

उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले दिल्ली में छोटी सी बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ था और इस मामले पर भी राहुल गांधी ने राजनीति की और कानून के दायरे से बाहर जाकर बच्ची के माता-पिता की तस्वीर को सोशल मीडिया पर डाला था।

उन्होंने कहा, ‘‘पीड़िता की मां ने खुद बयान देकर कहा है कि हमारे परिवार ने तस्वीर सार्वजनिक करने की कोई हामी नहीं दी है। बच्ची की मां जब मीडिया से बात कर रही थीं, तब भी उन्होंने अपनी पहचान को छिपाया था। दुखद है कि राहुल गांधी और कांग्रेस ने देश से इतना बड़ा झूठ बोला है।’’पात्रा ने कहा कि जब राहुल गांधी ने पीड़िता के परिवार की तस्वीर साझा की तब ट्विटर ने अपनी नीति के अनुसार कार्रवाई की थी।

उन्होंने कहा, ‘‘तब राहुल गांधी ने देश से झूठ बोला था कि पीड़िता के परिवार ने उनको स्वीकृति दी थी। कोई भी जिम्मेदार नेता ऐसा नहीं कर सकता।’’बहरहाल, नड्डा ने कोविड प्रबंधन को लेकर केरल सरकार की जमकर आलोचना की और कहा कि वहां की वामपंथी सरकार जिस ‘‘केरल मॉडल’’ की दुहाई दे रही थी वह दरअसल उसके कुप्रबंधन का मॉडल है।

उन्होंने कहा, ‘‘आज कहां है वह मॉडल? क्या गलती हुई जो औसतन 20 हजार संक्रमण के मामले रोज यहां आ रहे हैं। आज भी एक लाख से अधिक संक्रमण के मामले हैं केरल में। यह कोविड प्रबंधन नहीं हैं बल्कि कुप्रबंधन है। यह केरल मॉडल नहीं है, बल्कि कुप्रबंधन का मॉडल है।’’

उन्होंने दावा किया कि केरल में कोविड-19 की 70 प्रतिशत से अधिक एंटीजन जांच की गई जबकि जांच का सबसे बेहतर तरीका आरटी पीसीआर है। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड प्रबंधन में सरकार को अतिसक्रिय भूमिका निभानी थी, जो केरल की वामपंथी सरकार ने नहीं निभाई।’’

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password