Rajasthan Karauli: मोटरसाइकिल रैली पर पत्थरबाजी के बाद साम्प्रदायिक हिंसा भड़की, इंटरनेट बंद-कर्फ्यू जारी

राजस्थान के करौली शहर में  कर्फ्यू की अवधि बढ़ा दी गई है। यहां पर शनिवार को मोटरसाइकिल रैली पर पत्थरबाजी के बाद साम्प्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी । अबतक इस हिंसा में 35 लोग घायल हुए हैं। बता दें शनिवार को यहां कुछ लोगों ने हिन्दू नव वर्ष के मौके पर नव संवत्सर बाइक रैली निकाली थी। इस रैली पर पत्थरबाजी के बाद हिंसा भड़क उठी। वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि इस मामले में जो भी लोग दोषी हैं उनके खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी.

करौली की स्थिति पर प्रशासनिक अमला लगातार  बनाए है नजर

राजस्थान के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवा सिंह घुमारिया ने कहा है कि अबतक इस मामले में 36 लोग हिरासत में लिए गए हैं और अब स्थिति कंट्रोल में है। राजस्थान पुलिस ने कहा कि करौली में अफवाह को रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट को बंद कर दिया गया है और असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही है. जयपुर से 170 किलोमीटर दूर स्थित करौली की स्थिति पर प्रशासनिक अमला लगातार नजर बनाए हुए हैं.

कैसे हुई घटना, पुलिस ने बताई कहानी

करौली पुलिस के अनुसार नव संवत्सर को मनाने के लिए बाइक रैली मुस्लिम बहुल इलाके से गुजर रही थी तभी कुछ लोगों ने पथराव कर दिया। तभी देखते ही देखते हिंसा बढ़ गई। उपद्रवियों ने कुछ दुकानें जला दी और एक बाइक को भी जला दिया गया। कई दूसरी बाइक को तोड़फोड़ दिया गया।

घटना पर सीएम ने कहा होगी कड़ी  कार्रवाई ?

रैली पर पथराव के बाद भड़की हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि उन्होंने इस मामले में तुरंत डीजीपी और पुलिस प्रशासन से बातचीत की है। इस मामले में जो भी लोग दोषी है उनके खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी। सीएम ने कहा है कि राजस्थान में हमेशा से यह यह परंपरा रही है या हिंदू मुस्लिम सिख इसाई आपस में मिल जुल कर रहते हैं। पुलिस तो अपना काम कर ही रही है लेकिन वहां के समाज के बड़े बुजुर्गों को भी शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए आगे आना चाहिए। CM गहलोत ने कहा कि कुछ नॉन सीरियस लोग होते हैं जो कि पूरे समाज को बदनाम करते हैं। साथ ही माहौल को खराब करते हैं मैंने ऐसे लोगों के कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए हैं। मैं करौली की जनता से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।

जिलाधिकाराी का आया बयान 

ज़िलाधिकारी ने बताया, “लोगों की संपत्ति के नुकसान का आकलन किया जा रहा है, सख्ती से कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। रोजमर्रा की जरूरतों के लिए अलग से व्यवस्था कर रहे हैं, लगातार लोगों से बात की जा रही है।”

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password