Rain In Mp: प्रदेश में बदल सकता है मौसम का मिजाज, 24 जिलों में रिमझिम की संभावना

भोपाल। प्रदेश में अब मॉनसूम का दौर थमने लगा है। वातावरण में भी नमी आने लगी है। जिस कारण तापमान में उतार-चढ़ाव जारी है और उमस-गर्मी से लोगों का बूरा हाल है। मौसम विभाग के मुताबिक मध्यप्रदेश में 12 से 15 अक्टूबर तक मौसम की विदाई हो सकती है। हालांकि इन सब के बीच मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में प्रदेश के 24 जिलों में गरच-चमक के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। वहीं प्रदेश के कुछ जिलों जिलों में अगले 24 घंटे में बिजली गिरने का येलो अलर्ट भी जारी किया है।

इन जिलों में होगी बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटे में राजधानी भोपाल, होशंगाबाद, शहडोल संभागों और सिवनी, बालाघाट, मंडला, सागर, दमोह, सीहोर, विदिशा, बुरहानपुर, खरगोन, झाबुआ, धार, उज्जैन, देवास, गुना, श्योपुर गुना समेत कई जिलों में गरज-चमक के साथ हल्की बौछारे पड़ सकती है। वहीं होशंगाबाद, शहडोल संभागों के साथ सागर, दमोह, सीहोर, भोपाल, बुरहानपुर, उज्जैन, देवास, गुना और शिवपुरी जिलों बिजली गिरने और चमकने की चेतावनी जारी करते हुए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

इन क्षेत्रों में कम हुई बारिश
मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के दमोह जिले में औसत से 38 प्रतिशत कम बारिश हुई जो प्रदेश में सबसे कम है यहां 1046.3 मिमी औसत के मुकाबले अब तक केवल 644.8 मिमी बारिश हुई है। भोपाल, इंदौर, और ग्वालियर सहित 31 जिलों में सामान्य बारिश हुई है। पूर्वी मध्य प्रदेश में सामान्य से 15 फीसदी कम बारिश तथा राज्य के पश्चिमी भाग में 15 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है। आईएमडी ने मध्य प्रदेश को पूर्वी और पश्चिमी दो भागों में बांटा है। पूर्वी मध्य प्रदेश में 20 जिले हैं जबकि पश्चिमी मध्य प्रदेश में 31 जिले हैं। मध्य प्रदेश में कुल 52 जिले हैं। प्रदेश के टीकमगढ़ जिले को दोनों में से किसी भी हिस्से में शामिल नहीं किया गया है। इस वर्ष मानसून अपने आगमन की निर्धारित तिथि से सात दिन पहले 10 जून को मध्य प्रदेश में पहुंच गया था। जून में तो प्रदेश में प्रचुर मात्रा में बारिश हुई लेकिन जुलाई में इस बार मौसम शुष्क देखा गया, जिसमें आमतौर पर काफी बारिश होती है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password