Railways News: अब ट्रेन में यात्री उठा सकेंगे विस्टाडोम कोच का लुफ्त,जानिए क्या है विस्टाडोम जिसका लेंगे यात्री आनंद

Railways News: अब ट्रेन में यात्री उठा सकेंगे विस्टाडोम कोच का लुफ्त,जानिए क्या है विस्टाडोम जिसका लेंगे यात्री आनंद

Railways News

MP Railway News: रेल यात्रियों के लिए बड़ी खबर है अब उनका सफर अलग तरीके से होने वाला है।दरअसल वंदे भारत एक्सप्रेस में लगने वाली विस्टाडोम श्रेणी का एक कोच भोपाल के रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पहुंच गया है। यह आधुनिक सुविधाओं से भरपूर है और रेलवे ने इसे पर्यटन की दृष्टि से तैयार किया है।

क्या हैं खूबियां

जिस की दीवारें पारदर्शी है। इसमें बैठने वाले पर्यटक व यात्री बैठे-बैठे आसपास के नजारे का लुफ्त उठा सकेंगे। इसकी छतों का आधा हिस्सा भी कांच का है। इसमें लगी चेयरकार बर्थ मूवेबल है जिन्हें यात्री अपनी सुविधाओं के अनुरूप जब चाहे तब एक से दूसरी ओर घुमा सकते है। इस कोच की और भी कई खासियत है, जो एलएचबी और आईसीएफ श्रेणी के कोचों में नहीं होती है।

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि इस कोच को रानी कमलापति रेलवे स्टेशन से जबलपुर के बीच चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस में लगाया जाएगा। यह कोच फिलहाल ट्रायल के रूप में लगाया जाएगा, जिसे बाद में नियमित करने की योजना है। संभावना है कि कोच बुधवार से चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस में लगा दिया जाएगा।

क्या है विस्टाडोम कोच (vistadome coach)

भारतीय रेल (Indian Railways) के खाते में एक और उपलब्धि जुड़ गई. इसने विस्टाडोम कोच (vistadome coach) तैयार किया है, जो ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों के सफर को न केवल आरामदेह, बल्कि यादगार भी बना देगा. विस्टाडोम कोच ऐसे डिब्बे हैं, जिनमें चौड़ी खिड़कियां हैं और छतें भी कांच की हैं. पारदर्शी छत इसका खास आकर्षण है, जिससे यात्री पूरे रास्ते प्रकृति का आनंद ले सकेंगे.

मिलेगा पर्यटन को बढ़ावा 
बीते महीने पूर्व रेलमंत्री पीयूष गोयल ने एक ट्वीट किया था, जिसमें रेल के डिब्बों का वीडियो था. ये विस्टाडोम कोच हैं जो रेलवे की नई पहल है. ये पर्यटन स्थलों की यात्रा को बेहद यादगार बनाने के मकसद से हुई शुरुआत है. उम्मीद की जा रही है कि इससे न केवल लोग प्रकृति के और करीब आएंगे, बल्कि भारतीय पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा.

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password