Punjab : पंजाब में बेअदबी और विस्फोट के हालिया मामलों के पीछे कोई साजिश , पंजाब सरकार कानून-व्यवस्था बनाए रखने में नाकाम : केजरीवाल

चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी  के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पंजाब में बेअदबी और विस्फोट के हालिया मामलों के पीछे कोई साजिश होने का शुक्रवार को आरोप लगाया और कहा कि पंजाब की ‘‘कमजोर सरकार’’ कानून-व्यवस्था बनाए रखने में नाकाम रही है। पंजाब के दौरे पर आए दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ मादक पदार्थ का मामला ‘‘राजनीति से प्रेरित’’ है। लुधियाना जिला अदालत परिसर में बृहस्पतिवार को हुए विस्फोट के बाद पंजाब सरकार ने राज्य में ‘हाई अलर्ट’ घोषित किया है। विस्फोट में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और छह अन्य घायल हो गए थे। पुलिस को संदेह है कि विस्फोट में मारा गया व्यक्ति ही शायद विस्फोटक लगाने की कोशिश कर रहा था।

पंजाब को एक ईमानदार सरकार की जरूरत है

केजरीवाल ने अमृतसर में पत्रकारों से कहा, ‘‘ कुछ दिन पहले, बेअदबी की घटना सामने आई। अब, लुधियाना में विस्फोट हो गया। चुनाव से पहले ऐसी घटनाएं राज्य में शांतिपूर्ण माहौल को खराब करने के लिए साजिश के तहत की जा रही हैं। यह चंद लोगों की करतूत है।’’ उन्होंने कहा कि उन्हें पंजाब के लोगों पर पूरा विश्वास है और वे तनाव बढ़ाने की कोशिश करने वालों के नापाक मंसूबों को परास्त करेंगे। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ पंजाब में एक कमजोर सरकार है। सत्तारूढ़ पार्टी के नेता एक-दूसरे से ही लड़ रहे हैं। पंजाब को एक ईमानदार, मजबूत सरकार की जरूरत है, जो इन साजिशों में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर पाए।

ये सब राजनीति से प्रेरित है

’’ उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति ने स्वर्ण मंदिर में बेअदबी की कोशिश की, उसे संभवत: किसी प्रभावशाली व्यक्ति ने तनाव उत्पन्न करने के लिए भेजा होगा और पिछले पांच साल में बेअदबी के ऐसे कई मामले सामने आए हैं। केजरीवाल ने कहा, ‘‘ मजबूत सरकार का गठन होने तक ऐसी घटनाएं होती रहेंगी।’’ उन्होंने राज्य में एक ईमानदार, मजबूत और स्थिर सरकार बनाने का वादा किया, जो ऐसे साजिशकर्ताओं को न्याय के कठघरे में खड़ा करेगी। ‘आप’ प्रमुख ने राज्य में मादक पदार्थों के खतरे को लेकर भी कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि सरकार ने पिछले चुनाव अभियान के दौरान सरकार बनाने के एक महीने के भीतर माफिया का सफाया करने का वादा किया था। उन्होंने कहा, ‘‘ पिछले पांच साल में, एक प्राथमिकी दर्ज की गई और मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी तथा कांग्रेस की राज्य इकाई के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू इस पर शेखी बघार रहे हैं।’’ केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में मादक पदार्थ तस्करों का एक मजबूत नेटवर्क है। मजीठिया के बारे में सवाल किए जाने पर केजरीवाल ने कहा, ‘‘ चुनाव की घोषणा होने से केवल 10 दिन पहले, वे यह सब कर रहे हैं। यह सब राजनीति से प्रेरित है।’’ राज्य में मादक पदार्थ से जुड़े 2018 के एक मामले की स्थिति रिपोर्ट के आधार पर मजीठिया के खिलाफ सोमवार को स्वापक औषधि एवं मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password