Pune Incident: सड़क हादसे के बीच यातायात पुलिसकर्मी ने दिया साहस का परिचय, बचाई बच्ची की जान

पुणे। Pune Incident एक यातायात पुलिसकर्मी ने सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल एक बच्ची को समय से अस्पताल पहुंचा कर उसकी जान बचाई। घटना 14 अप्रैल की है। आठ वर्षीय पीड़िता अब स्वस्थ हो रही है। बच्ची के परिजन पुलिसकर्मी समीर बागशीराज के शुक्रगुज़ार हैं कि उन्होंने हादसे के बाद तुरंत कार्रवाई करते हुए उसे अस्पताल पहुंचाया।

हादसे के बाद समीर, एम्बुलेंस का इंतजार किए बिना घायल बच्ची को गोद में उठाकर अस्पताल की ओर दौड़ पड़े थे। हादसा पुणे-मुंबई राजमार्ग पर वारजे क्षेत्र के पास हुआ, जब सड़क पर यातायात जाम के दौरान एक ट्रक, पीछे से दूसरे ट्रक द्वारा टक्कर मारे जाने के बाद वहां खड़ी एक कार से टकरा गया। बागशीराज ने बृहस्पतिवार को ”पीटीआई-भाषा” को बताया कि कार में दो नाबालिग लड़कियों समेत एक ही परिवार के चार सदस्य सवार थे। वे सभी कार के अंदर फंस गए थे। उन्होंने बताया, ”पिछली सीट पर बैठी एक लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई। मैंने एम्बुलेंस के आने का इंतजार नहीं किया और लड़की को उठाकर अस्पताल ले जाने के लिए ट्रैफिक में ही दौड़ना शुरू कर दिया। एक ऑटो-रिक्शा चालक राम नवाले, ने मुझे घायल लड़की को गोद में उठाकर भागते देखा तो अपना वाहन रोका और मुझे बिठा लिया।” उन्होंने कहा, ”मैंने तेजी से काम किया और लड़की को अस्पताल ले गया ताकि उसका जल्द से जल्द इलाज हो सके। लड़की के माता-पिता और बहन को भी बाद में अस्पताल ले जाया गया और वे सभी अब ठीक हैं।” ‘

‘पीटीआई-भाषा” से बात करते हुए, लड़की की मां ने बागशीराज और अन्य यातायात पुलिस कर्मियों के साथ-साथ स्थानीय जनता के सदस्यों को उनके तुरंत हरकत में आने और अपनी बेटी की जान बचाने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ”मेरी बेटी के सिर में चोटें आईं और मेरे पति को भी गंभीर चोट आई, सभी अब स्वस्थ हो रहे हैं।”

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password