Primary Teacher Eligibility Test 5 March : परीक्षार्थी को इस बात का रखना होगा ध्यान, वरना नहीं मिलेगी एंट्री

भोपाल। बड़े लंबे इंतजार के बाद Primary Teacher Eligibility Test 5 March आखिरकार पीईबी की प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा 5 मार्च यानि कल से आयोजित की जा रही है। करीब 16 शहरों में हो रही इस परीक्षा में 10 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसके लिए प्रशासन द्वारा तैयारी पूरी कर ली गई है। इंदौर की बात करें तो यहां 11 सेंटर बनाए गए हैं। परीक्षा केंद्र में सघन चैकिंग की व्यवस्था के साथ जैमर भी लगाए गए हैं। मेटल डिटेक्टर से परीक्षार्थियों की चैकिंग होगी।

परीक्षार्थियों के लिए ये काम था जरूरी —

आपको बता दें इस परीक्षा की प्रक्रिया 2020 में शुरू हुई थी। पर कोरोना के चलते इसे टाल दिया गया था। तब इसका कैलेंडर भी जारी नही हुआ था। इसकी डेट को लेकर भी कुछ साफ नहीं किया गया था। इसके बाद अब होने वाली इस परीक्षा के लिए कैंडिडेट्स का रोजगार कार्यालय में जीवित पंजीयन होना अनिवार्य कर दिया गया था।

परीक्षा खत्म होने के पहले नहीं जा सकेंगे बाहर —
परीक्षा 5 मार्च से होने है। जब तक परीक्षा संपन्न नहीं हो जाती। उसके पहले किसी भी परीक्षार्थि को परीक्षा केंद्र से बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी।

इन केंद्रों पर होनी है परीक्षा —
आनलाइन होने वाली इस परीक्षा के लिए प्रदेश में भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, नीमच, रतलाम, मंदसौर, सागर, सतना, खंडवा, गुना, दमोह, सीधी, छिंदवाड़ा और बालाघाट में केंद्र बनाए गए हैं।

इंदौर में ये रहेगी व्यवस्था
5 मार्च से शुरू होने जा रही परीक्षा को लेकर इंदौर में तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। इधर बनाए गए 11 सेंटरों में से शुरू के 3 दिन 10 एग्जाम सेंटरों पर परीक्षाएं होगीं। जैमर लगाए जाएंगे साथ ही साथ मेटल डिटेक्टर से परीक्षार्थियों की चैकिंग होगी।

20 दिन चलेंगी परीक्षाएं
आपको बता दें पीईबी द्वारा आयोजित ये परीक्षा 5 मार्च से 26 मार्च तक यानि 20 दिन चलेगी। यहां चयनित परीक्षार्थियों की नियुक्ति् शिक्षा विभाग व जनजातीय कार्य विभाग मप्र शासन के प्राथमिक स्कूलों में होगी। परीक्षाओं के बीच होली और रंग पंचमी की छुट्टी रहेगी।

परीक्षार्थी रखें इस बात का ध्यान, साथ रखें ये डॉक्यूमेंट
एग्जाम में शामिल होने वाले परीक्षार्थीयों को अपने साथ रोल नंबर, मूल आईडी- आधार कार्ड, पेन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक एग्जाम सेंटर ले जाना होगा। नहीं तो एंट्री नहीं मिलेगी। इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि एग्जाम में मोबाइल, पेजर, स्मार्ट वॉच सहित अन्य डिजिटल डिवाइस ले जाने की अनुमति नहीं है।

दो फ्लाइंग स्क्वायड रखेंगे नजर
दो फ्लाइंग स्क्वायड की टीम परीक्षार्थियों पर कड़ी नजर रखेगी। एक टीम में 3 सदस्य होंगे। यह तीनों सदस्य प्रशासनिक अधिकारी रहेंगे। टीम में एक डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार या उनके स्तर का अधिकारी के साथ—साथ 1 नायब तहसीलदार हो होंगे।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password