Prahlad Borewell News :जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा मासूूम,बच्चे के पास पहुंच रही रेस्क्यू टीम, धारा 144 लागू -

Prahlad Borewell News :जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा मासूूम,बच्चे के पास पहुंच रही रेस्क्यू टीम, धारा 144 लागू

prahlad borewell Niwari district

भोपाल। निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर क्षेत्र में बच्चे को बोरवेल पर गिरे 2 दिन बीत गए, लेकिन अभी तक बच्चे को नहीें निकाला जा सका है। लगभग 48 घंटे से राहत कार्य जारी है। एनडीआरएफ और सेना की संयुक्त कार्रवाई के बाद बच्चे के काफी नजदीक पहुंचा जा चुका है। अभी तक करीब 60 फीट की खुदाई की जा चुकी है। बताया जा रहा है कि अब मशीनों को बंद कर दिया है। अब केवल मानवीय तरीकों से खोदा जा रहा है, ताकि बच्चे ( prahlad borewell today news ) तक बनाई जाने वाली सुरंग धंस न जाए। अधिकारियों का कहना है कि पहली प्राथमिकता बच्चे तक सही-सलामत पहुंचना है, ताकि कोई भी हादसा वही इस मामले में निवाड़ी कलेक्टर का बयान सामने आया है। निवाड़ी कलेक्टर ने बताया कि हमारे पास सारी मशीनें मौजूद हैं, परिस्थिति के हिसाब से उनका प्रयोग किया जाएगा। आज से यहां धारा 144 लगाई जा रही है ताकि बाधारहित रूप से बचाव कार्य जारी रहे। पुलिस के पास पावर रहेगी, वो आवाजाही की अनुमति दे सकती है।

जरूर पढ़ें : Prahlad news : 24 घंटे से चल रहा संयुक्त टीम का रेस्क्यू, बस कुछ ही घंटों में बच्चे तक पहुंचने उम्मीद

टीवी से कनेक्ट किया गया है
जानकारी ये भी मिल रही है कि बच्चे की तरफ से अब कोई हरकत नहीं हो रही है। अधिकारियों का कहना है कि पहली प्राथमिकता बच्चे तक सही-सलामत पहुंचना है, ताकि कोई भी हादसा होने पर बच्चे को नुकसान न पहुंचे। बच्चे पर नजर रखने के लिए कैमरा अंदर डाला गया है। इससे टीवी से कनेक्ट किया गया है। यह फुटेज सिर्फ माता-पिता और उनके परिजनों को दिखाए जा रहे हैं।

 

48 घंटे से चल रहा संयुक्त टीम का रेस्क्यू
निवाडी जिले के पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के सेतपुरा गांव में बोरवेल में फंसे मासूम प्रहलाद का रेस्क्यू ( prahlad ko bachana hai ) अभी तक जारी है। आर्मी,NDRF, SDRF, होमगार्ड और जिला प्रशासन रेस्क्यू कर रहा है। अनुमान के अनुसार करीब 60 से 80 फीट गहराई पर बच्चा फंसा हुआ है। मासूम को लागातार ऑक्सीजन दिया जा रहा है। डॉक्टर की टीम और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। लखनऊ से NDRF की टीम ओरछा पहुंची है।

प्रहलाद के रेस्क्यू ऑपरेशन की सीएम खुद कर रहे मॉनिटरिंग
एक दिन पहले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान सामने आया था। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि प्रहलाद को सकुशल बाहर निकालने के लिए प्रशासन रातभर से जुटा रहा। पूरा देश प्रहलाद के लिए दुआएं कर रहा है। ऑक्सीजन सिलेंडर समेत पर्याप्त सुविधाएं है। रेस्क्यू ऑपरेशन में थोड़ा समय लगेगा। ईश्वर से प्रार्थना है प्रहलाद सकुशल बाहर आएगा।

जरूर पढ़ें : 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरा मासूम, कैमरा से बच्चे की स्थिति जानने की जा रही कोशिश, दिया जा रहा ऑक्सीजन

ये है मामला
बुधवार सुबह एक मासूम 200 फीट गहरे बोरवेल में गिर गया था। 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरने ( four year old innocent fell into deep feet ) के बाद गांव वालों ने इसकी सूचना ​दी थी। सूचना के बाद प्रशासन से बच्चे के रेस्क्यू के लिए बबीना से आर्मी टीम को बुलाया गया। आर्मी भी मौकेे पर पहुंची और बच्चे को बाहर निकालनेे का प्रयास कर रही है। बोरवेल में अंदर कैमरा भेज कर बच्चे की स्थिति जानने की कोशिश की जा रही है। बच्चे को लगातार ऑक्सीजन सप्लाई भी की जा रही है।

की जा रही है खुदाई
बच्चे को बाहर निकालने के लिए जेसीबी मशीनों की मदद खुदाई की जा रही है। पुलिस और प्रशासन की टीम भी मौके पर मौजूद है। आर्मी का रेस्क्यू अभियान जारी है। जानकारी ये भी आ रही है कि बोरवेल तो लगभग 200 फीट गहरा है , लेकिन मासूम 50 से 80 फीट पर फंसा होने का अनुमान लगाया जा रहा है। ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ ही डॉक्टर्स की टीम भी मौके पर है।

निवाड़ी जिले की घटना
पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत सेतपुरा गांव निवासी हरकिशन कुशवाहा का चार वर्षीय बेटा प्रहलाद कुशवाह घर के आसपास खेल रहा था। परिवार के अन्य सदस्य अपने दैनिक कार्यों में व्यस्त थे। घर से कुछ ही दूरी पर हाल ही में दो सौ फीट गहरा बोर खोदा गया था। काम पूरा होने के बाद बोर को बंद नहीं किया गया था। स्वजनों ने बच्चे को हिदायत दी थी कि बोर के नजदीक मत जाना, लेकिन मासूम खेलते-खेलते स्वजनों की हिदायत को भूल गया और बोर में गिर गया। जब लोगों ने मासूम को बोर में गिरते देखा तो पूरा गांव में हडकंप मच गया।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया था ट्वीट
वहीं मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा था कि ओरछा के सेतपुरा गांव में बोरवेल में गिरे मासूम प्रह्लाद को बचाने के लिए स्थानीय प्रशासन के साथ सेना बचाव कार्य में जुटी है। मुझे विश्वास है कि शीघ्र प्रह्लाद को सकुशल बाहर निकाल लिया जायेगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password