PPF Investment New Rule: -करते-है-प्रॉविडेंट-फंड-में-निवेश-तो-जान-लें-नए-नियम PPF Investment New Rule: If you invest in Provident Fund, then know the new rules

PPF Investment New Rule : करते है प्रॉविडेंट फंड में निवेश, तो जान लें नए नियम

नई दिल्ली। अगर आप प्रोविडेंट फंड PPF Investment धारक हैं तो ये खबर आपके लिए है। Public Provident Fund दरअसल सुकन्या समृद्धि योजना यानि SSY के बाद अब PPF यानि प्रॉविडेंट फंड के नियम भी बदल गए हैं। आपको इसमें पैसा mera finence निकालने या लोन आदि khabar kaam ki लेने में परेशानी न हो। इसके लिए चलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं इससे जुड़े नियम। जो बदल चुके हैं।

आपको बता दें पब्लिक प्रोविडेंट फंड बढ़िया सेविंग के लिए एक बेहतर विकल्प है। पर इसमें निवेश के लिए ये जरूरी है कि आपको इसके सारे नियम आपको पता हों। जैसे पीपीएफ में कितना ब्याज मिलता है। कितने निवेश से शुरूआत कर सकते हैं। (PPF Loan terms and condition)इतना ही नहीं आपको ये भी पता होना चाहिए कि यदि आप निवेश करते हैं तो आपको इस पर कम्पाउंड ब्याज (Compound Interest) का फायदा मिलेगा।

इन बातों की जानकारी है जरूरी —

पीपीएफ फंड में आपको पता होनी चाहिए कि स्मॉल सेविंग्स स्कीम को सरकार ऑपरेट करती है। मतलब सरकारी गारंटी वाला निवेश है। ऐसे में जोखिम नहीं है और हर तिमाही पर ब्याज दर (PPF Interest rate) की समीक्षा होती है। आपको बता दें सरकार कई बार इससे जुड़े नियमों में भी बदलाव करती है। आइये जानते हैं क्या हैं PPF के नए नियम

सुकन्या के बाद PPF के बदले नियम
आपको बता दें हाल ही में सरकार द्वारा बेटियों के बचत के लिए चलाई जाने वाली (Small Savings scheme) सुकन्या समृद्धि स्कीम संबंधी निवेश में बदलाव कर दिया गया है। जिसके बाद अब पब्लिक प्रोविडेंट फंड में भी कुछ थोड़े बहुत बदलाव हुए हैं।

खोलना चाहते हैं अकाउंट, फॉर्म-1 होगा जरूरी

आपको बता दें यदि आप भी PPF अकाउंट खुलवाने की सोच रहे हैं तो अब इसके ल‍िए आपको फॉर्म ए (Form-A) की जगह फॉर्म-1 (Form-1) जमा करना होगा। 15 साल के बाद PPF खाते के व‍िस्‍तार के ल‍िए (जमा के साथ) मैच्‍योर‍िटी से एक साल पहले फॉर्म H के बजाय फॉर्म-4 में आवेदन करना होगा।

पीपीएफ अकाउंट कितना मिलेगा Loan—
आप अगर PPF Account पर लोन लेना चाहते हैं तो पहले जब आप लोन के लिए आवेदन करेंगे। उससे दो साल पहले आपके अकाउंट में जो बैलेंस रहा होगा। उसके 25 प्रतिशत पर ही आपको लोन दिया जाएगा। मान लो आपने 31 मार्च 2022 को लोन के ल‍िए आवदेन क‍िया। इससे दो साल पहले (31 मार्च 2020) को पीपीएफ अकाउंट में 1 लाख रुपए थे तो आपको इसका 25% यानी 25 हजार लोन ही दिया जाएगा।

लोन पर इतना देना होगा ब्याज —
आपको बता दें PPF अकाउंट में मौजूद बैलेंस पर अगर आप लोन लेना चाहते हैं तो सबसे अच्छी बात ये है कि इसके लिए ब्याज दर 2% से घटाकर 1% कर दी गई है। कर्ज की मूल राशि का भुगतान करने के बाद दो से ज्‍यादा किस्तों में ब्याज चुकाना होगा। ब्याज की गणना हर महीने की पहली तारीख से होती है।

15 साल के बाद PPF अकाउंट का क्या होता है
आपको बता दें यदि आप 15 वर्ष तक पैसा निवेश करने के बाद उसमें निवेश नहीं करना चाहते तो भी इस समय सीमा के बाद अपने PPF अकाउंट को ब‍िना न‍िवेश किए जारी रख सकते हैं। इसमें सबसे अच्छी बात है कि आपको 15 साल के बाद जमा करने की बाध्‍यता नहीं होगी। अगर आप मैच्युरिटी के बाद इसे बढ़ाना चाहते हैं तो इस कंडीशन में आप एक बार ही पैसा न‍िकाल सकते हैं।

महीने में कितनी बार जमा कर सकते हैं पैसा?

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट में न‍िवेश 50 रुपए के मल्‍टीपल में होना जरूरी है। यह राश‍ि सालाना कम से कम 500 रुपए या उससे ज्‍यादा होनी जरूरी है। लेक‍िन PPF अकाउंट में आप पूरे साल में डेढ़ लाख रुपए तक जमा कर सकते हैं। इस पर टैक्‍स छूट का फायदा म‍िलता है। आप एक महीने में एक ही बार PPF अकाउंट में पैसे जमा कर सकते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password