मोदी सरकार में बिजली की कमी से बिजली की अधिकता वाला देश बना भारत: केंद्रीय मंत्री

जम्मू, तीन जनवरी (भाषा) केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने रविवार को कहा कि भारत पिछले छह वर्षों में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अधिशेष बिजली वाला देश बन गया है। उन्होंने कहा कि अब भारत दुनिया में नवीकरणीय ऊर्जा में उच्चतम वृद्धि दर भी दर्ज कर रहा है।

सिंह ने यहां एक समारोह में कहा, ‘‘देश में बिजली की कोई कमी नहीं है। हमारी अधिकतम 1.85 लाख मेगावाट बिजली की मांग है, लेकिन वर्तमान उपलब्धता 3.74 लाख मेगावाट है।’

केंद्रीय विद्युत राज्य मंत्री 34 हजार करोड़ रुपये की लागत से 850 मेगावाट के रातले एचईपी और 930 मेगावाट के किरथई-2 एचईपी के क्रियान्वयन तथा सावलकोट एचईपी (1856 मेगावाट), उरी (स्टेज-2- 240 मेगावाट) और दुलहस्ती (स्टेज-2- 258 मेगावाट) बिजली परियोजनाओं के निष्पादन को लेकर एनएचपीसी व जम्मू कश्मीर सरकार के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के लिये आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘इससे पहले हमारे देश में बिजली की कमी थी, लेकिन 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद, हमने देश को बिजली उत्पादन में अधिशेष वाला बनाने के लिये बिजली उत्पादन को दोगुना कर दिया है।’’

मंत्री ने कहा कि बिजली के उत्पादन में सार्वजनिक क्षेत्र के बजाय निजी क्षेत्र से अधिक निवेश है। उन्होंने एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘हम यहां पारदर्शी तरीके से कर रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप भारत की अक्षय ऊर्जा वृद्धि दर दुनिया में सबसे अधिक है और अक्षय ऊर्जा में भारत एक आकर्षक वैश्विक गंतव्य बन गया है।’’

भाषा सुमन महाबीर

महाबीर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password