एनसीआर में प्रदूषण बढ़ा, गाजियाबाद सबसे प्रदूषित

नोएडा (उप्र), एक जनवरी (भाषा) गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और फरीदाबाद में 2021 के पहले दिन वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गयी जबकि गुरुग्राम में यह ‘बेहद खराब’ रही।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) दर्ज करता है। बोर्ड के अनुसार दिल्ली से सटे पांच शहरों में ‘पीएम 2.5’ और ‘पीएम 10’ की मात्रा बहुत अधिक रही।

शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’ श्रेणी में रखा जाता है जबकि 51 से 100 के बीच एक्यूआई को ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘सामान्य’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में रखा जाता है।

शुक्रवार को शाम चार बजे पिछले 24 घंटे का औसत एक्यूआई गाजियाबाद में 470, ग्रेटर नोएडा में 434, नोएडा में 455, फरीदाबाद में 421 और गुरुग्राम में 376 रहा।

बोर्ड का कहना है कि गंभीर श्रेणी की वायु गुणवत्ता स्वस्थ व्यक्ति को प्रभावित करती है वहीं पहले से किसी बीमारी से जूझ रहे व्यक्ति पर गंभीर असर डालती है। बेहद खराब श्रेणी की वायु गुणवत्ता में लंबे समय तक रहने से सांस की परेशानियां हो सकती हैं।

बृहस्पतिवार को गाजियाबाद में औसत एक्यूआई 343 था जबकि ग्रेटर नोएडा में 394, नोएडा में 369, फरीदाबाद में 344, गुरुग्राम में 317, दर्ज किया गया था।

भाषा राजकुमार अविनाश

अविनाश

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password