CoronaVirus in India: कोरोना संकट पर गरमाई सियासत, बीजेपी बोली- ‘राहुल गांधी कोविड संकट को लेकर कर रहे हैं राजनीति’

नई दिल्ली। (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर कोरोना वायरस संकट को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया। गांधी ने कोविड-19 महामारी से जुड़े सरकार के प्रबंधन को लेकर एक ‘‘श्वेत पत्र’’ जारी किया है।अपनी पार्टी द्वारा तैयार किए गए ‘‘श्वेत पत्र’’ को जारी करते हुए, गांधी ने कहा कि यह स्पष्ट है कि सरकार का कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर का प्रबंधन ‘‘त्रासदीपूर्ण’’ था।गांधी द्वारा इस पत्र को जारी करने के कुछ घंटों बाद भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘कल से हमें इस बात की आशंका थी । कोरोना वायरस के खिलाफ हमारी लड़ाई में जब भी कुछ अच्छा होता है तो कांग्रेस और विशेषकर राहुल गांधी इसे पटरी से उतारने के लिए कुछ करते हैं।

कल भारत में 87 लाख खुराक लगाई

कल एक महत्वपूर्ण दिन था जब भारत एक दिन में टीके की 87 लाख खुराक देने वाला दुनिया का पहला देश बन गया। लोग उत्साहित नजर आए। ऐसा लग रहा है कि भारत कोरोना वायरस के खिलाफ अपनी लड़ाई में जीत रहा है, तभी राहुल गांधी ने श्वेत पत्र की बात की और उसे पटरी से उतारने की कोशिश की।’’ पात्रा ने कहा कि महामारी पर काबू पाने की लड़ाई की शुरुआत से ही कांग्रेस पार्टी सरकार के हर कदम पर सवाल उठाती रही है। पात्रा ने कहा, ‘‘जब भी हम अपनी लड़ाई में एक चौराहे पर होते हैं, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी ने राजनीति कर प्रयासों को पटरी से उतारने की कोशिश की है। वास्तव में, कांग्रेस ने हमारे रास्ते में बाधाएं और अड़चनें पैदा करने के लिए अथक प्रयास किये है।’’

कोविड को लेकर कर रहे हैं राजनीति

दूसरी लहर कांग्रेस शासित राज्य से शुरू हुई, संक्रमितों की संख्या सबसे अधिक कांग्रेस शासित राज्यों से थी और इसलिए सबसे ज्यादा मौतें हुईं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासित राज्यों में टीके को लेकर सबसे अधिक हिचकिचाहट देखी गई और इसलिए कोविड-19 संक्रमण की दर सबसे अधिक रही। उन्होंने कहा, ‘‘टीकों के विकेंद्रीकरण की मांग कांग्रेस शासित राज्यों से आई और फिर यू-टर्न लेते हुए केंद्रीकरण की मांग भी उन्हीं की ओर से आई। ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन और श्वेत पत्र के बजाय राहुल गांधी को ऐसे राज्यों में जाकर उन्हें यह आंकड़ा देना चाहिए।’’ गांधी को ‘भ्रमित’ बताते हुए पात्रा ने कांग्रेस पर विरोधाभासी मांगें करने का आरोप लगाया। पात्रा ने कहा, ‘‘पहले उन्होंने लॉकडाउन को ‘तुगलकी’ कहा, फिर उन्होंने सवाल किया कि लॉकडाउन क्यों नहीं लगाया गया… मैं राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि वह कब तक सिर्फ ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन करेंगे? आप कोई वास्तविक कार्य कब करेंगे?’’ उन्होंने कहा, ‘‘अपनी पार्टी के शासित राज्यों में जाइए और वहां का हाल देखिए। राजस्थान में टीकों की बर्बादी कैसे हो रही है, पंजाब में टीकों की मुनाफाखोरी कैसे हो रही है और छत्तीसगढ़ किस तरह टीकों का दुरुपयोग कर रहा है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password