Police Constable Salary: पुलिस कांस्टेबल को मिलती है इतनी सैलरी और ये सुविधाएं, क्या आप जानते हैं?

Police Constable Salary: पुलिस कांस्टेबल को मिलती है इतनी सैलरी और ये सुविधाएं, क्या आप जानते हैं?

Police Constable Salary

Police Constable Salary: देश भर के तमाम राज्यों में पुलिस कांन्सटेबल की भर्तियां होती ही रहती हैं। लेकिन जिन युवाओं ने 12 वीं के बाद ही इसकी तैयारी शुरू कर दी है उन्हें इस पद की ज्यादा जानकारी नहीं होती है। युवाओं के मन में इस नौकरी को लेकर तरह-तरह के सवाल रहते हैं। आज इस खबर में हम इस नौकरी के बारे में जानेंगे और हमारा मुख्य बिंदु कांन्सटेबल की सैलरी रहेगा । इसके साथ ही कांन्सटेबल के काम,प्रमोशन,और भत्तों की भी जानकारी इस खबर से हम जानेंगे….

कांन्सटेबल की जानकारी

सबसे पहले तो ये जान लीजिए आज इस कम्पटीशन के दौर में पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि कांन्सटेबल की नौकरी एक सरकारी नौकरी होती है। इन्हें सरकारी सैलरी मिलती है और कई सुविधाएं मिलती हैं। अधिकांश राज्यों में पुलिस परीक्षा के जिसमें चार फेज होते हैं- लिखित परीक्षा, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन, शारीरिक माप परीक्षण और शारीरिक दक्षता परीक्षा. इस खबर में हम यूपी पुलिस में कांस्टेबलों की भर्ती प्रक्रिया का उदाहरण लेकर इस खबर को समझेंगे। यूपी पुलिस में कांस्टेबलों का वेतन सातवें वेतन आयोग के अंतर्गत आता है. UP Police Constable का सालाना वेतन लगभग 4,20,000 रुपये से लेकर 4,80,000 रुपये तक होता है.

सातवें वेतन के बाद वेतन

उत्तरप्रदेश पुलिस कांस्टेबल को सातवें वेतन आयोग के अनुसार ग्रेड पे 7,200 रुपये मिलता है।वहीं मासिक प्रारंभिक वेतन यानि कि मूल वेतन 21,700 रुपए होता है। इस प्रकार यूपी पुलिस कांस्टेबल का इन-हैंड वेतन 30,000 से 40,000. रुपये के बीच है. इसके अलावा यूपी पुलिस कांस्टेबलों को भी कुछ भत्ते और लाभ मिलते हैं.

-महंगाई भत्ता

-मकान किराया भत्ता

-मेडिकल भत्ता

-ट्रेवल भत्ता (टीए)

-टुकड़ी भत्ता

-उच्च ऊंचाई भत्ता

-नगर प्रतिपूरक भत्ता

-स्वीकार्यता, क्वांटम और कम्यूटेशन

मुख्य कार्य

एक कॉन्स्टेबल का काम साधारण रूप से एफआईआर (FIR) दर्ज करना है. इसके साथ ही शिकायत से जुडी सभी डिटेल को FIR में दर्ज करना भी कांस्टेबल का मुख्य काम होता है. इसके साथ ही बड़े अधिकारियों के गनर, ट्रेफिक व्यवस्था, वीआईपी ट्रीटमेंट, पायलट, परेड ड्यूटी के साथ ही थाने के सभी काम इत्यादि कांन्सटेबल के काम होते हैं..।

समय के साथ होती है तरक्की

कांस्टेबल के बाद प्रमोशन मिलता है और ये सफर कई दफा डीएसपी रैंक तक जाता है। हर राज्य की पुलिस में करियर ग्रोथ की काफी संभावनाएं हैं. यूपी पुलिस में प्रमोशन पद के लिए प्रदर्शन, वरिष्ठता और योग्यता के आधार पर होता है. यूपी पुलिस में रैंकों का पदानुक्रम इस प्रकार है.

इस प्रकार कांन्सटेबल से डीएसपी का सफर तय होता है-

– कांस्टेबल (Constable) इसके बाद

-हेड पुलिस कांस्टेबल (Head Police Constable) इसके बाद

-सहायक उप निरीक्षक (Assistant Sub Inspector) (ASI) इसके बाद

-सब इंस्पेक्टर (Sub Inspector) (SI) इसके बाद

-इंस्पेक्टर (Inspector) TI इसके बाद

मुख्य पुलिस अधीक्षक Chief Superintendent of police-CSP इसके बाद

पुलिस उपाधीक्षक (Deputy superintendent of police) DSP यहां तक प्रमोशन संभावित

इसके उपर प्रमोशन के लिए विशिष्ट सेवा की जरूरत होती है….

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password