PM Modi On Budget Session: अंतरिम बजट के बाद बोले PM मोदी

PM Modi On Budget Session: आप सभी को 2024 की राम-राम… अंतरिम बजट के बाद बोले PM मोदी

PM Modi On Budget Session
Share This

हाइलाइट्स 

  • Budget 2024 को लेकर क्या कुछ बोले PM मोदी?
  • मोदी बोले- ये बजट युवा, गरीब, महिला और किसान पर केंद्रित 
  • मोदी बोले- ये देश के निर्माण का बजट

PM Modi On Budget Session: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज 2024 लोकसभा चुनाव का एजेंडा सेट कर दिया। संसद भवन के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए पीएम मोदी ने सबको राम-राम कहकर बीजेपी का एजेंडा भी बता दिया।

 

यही नहीं, पीएम मोदी ने आज विपक्ष को जमकर सुनाया। उन्होंने संसद में शोरशराबा करने वाले सांसदों को सीख देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इसबार ये सांसद देश को बढ़ाने के लिए अपनी बात रखेंगे।

पीएम मोदी ने विपक्ष के सांसदों को सुनाते हुए कहा कि जिन्होंने सिर्फ नकारात्मक हुड़दंग शरारत पूर्ण व्यवहार किया होगा उनको शायद ही कोई याद करे। पीएम मोदी ने जाते-जाते सबको मेरा राम-राम बोलकर 2024 लोकसभा चुनाव को एजेंडा भी सेट कर गए।

   मोदी बोले- ये बजट युवा, गरीब, महिला और किसान पर केंद्रित

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘ये बजट विकसित भारत के युवा, गरीब, महिला और किसान पर आधारित है। ये देश के निर्माण का बजट है। इसमें 2047 के भारत की नींव को मजबूत करने की गारंटी है। मैं निर्मला जी और उनकी टीम को बहुत बधाई देता हूं। इसमें भारत की यंग एस्पिरेशन का प्रतिबिंब है।’

उन्होंने कहा, ‘अब हमने 2 करोड़ और नए घर बनाने का लक्ष्य रखा है। पहले हमने 2 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य रखा है, जिसे बढ़ाकर 3 करोड़ कर दिया गया है। इस बजट में गरीब और मध्यम वर्ग को एम्पॉवर करने पर जोर दिया गया है।’

   विपक्ष को नसीहत दे गए पीएम

17वीं लोकसभा के अंतिम सत्र से पहले पीएम मोदी ने काह कि मैं आशा करता हूं कि 10 वर्ष में जिसको जो रास्ता सूझा उस प्रकार से संसद में सबने अपना अपना कार्य किया। लेकिन मैं इतना जरूर कहूंगा कि जिनको आदतन हूटिंग करने का स्वभाव बन गया है, जो आदतन लोकतांत्रिक मूल्यों का चीरहरण करते हैं, ऐसे सभी माननीय सांसद आज जब आखिरी सत्र में मिल रहे हैं तब जरूर आत्मनिरीक्षण करेंगे।

पीएम ने कहा कि वो सांसद जिन्होंने पिछले 10 साल में जो किया अपने संसदीय सत्र में भी जाकर सब लोगों से पूछ लें किसी को याद भी नहीं होगा। पीएम मोदी ने कहा कि विरोध का स्वर तीखा ही क्यों न हो लेकिन जितने सदन में उत्तम विचारों से सदन को लाभान्वित किया होगा उनको बहुत बड़ा वर्ग आज भी याद करता होगा। आने वाले दिनों में जब संसद की चर्चाएं लोग देखेंगे तो उनका एक एक शब्द इतिहास की तारीख बनकर आएगा।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password