Aligarh Muslim University: AMU के शताब्दी समारोह में बोले PM- जो देश का है वो हर देशवासी का है, इसका लाभ सबको मिले

Image Source: [email protected]

AMU Centenary Celebrations: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय (Aligarh Muslim University) के शताब्दी समारोह को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी का यह संबोधन वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से हुआ। कार्यक्रम को दौरान पीएम मोदी ने एक डाक टिकट भी जारी किया। इस कार्यक्रम के जरिए पीएम मोदी एक नया इतिहास भी रच दिया है। क्योंकि लगभग 56 साल बाद आज देश के प्रधानमंत्री ने AMU के कार्यक्रम को संबोधित किया है।

कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने सरकारी की योजनाओं को गिनाया। पीएम ने कहा, जो देश का है वो हर देशवासी का है और इसका लाभ हर देशवासी को मिलना ही चाहिए, हमारी सरकार इसी भावना के साथ काम कर रही है। बिना किसी भेदभाव आयुष्मान योजना के तहत 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज संभव हुआ।

पीएम ने कहा, पहले मुस्लिम बेटियों को स्कूल ड्रॉपआउट रेट 70% से ज्यादा था वो अब घटकर करीब-करीब 30% रह गया है। पहले लाखों मुस्लिम बेटियां शौचायल की कमी की वजह से पढ़ाई छोड़ देती थीं, अब हालात बदल रहे हैं। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में 21वीं सदी में भारत के छात्र-छात्राओं की जरूरतों को सबसे ज्यादा ध्यान में रखा गया है। हमारे देश के युवा Nation First के आह्वान के साथ देश को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

पीएम मोदी ने कहा, आज देश जो योजनाएं बना रहा है वो बिना किसी मत मजहब के भेद के हर वर्ग तक पहुँच रही हैं। बिना भेदभाव, 40 करोड़ से ज्यादा गरीबों के बैंक खाते खुले। 2 करोड़ से ज्यादा गरीबों को पक्के घर दिए गए। 8 करोड़ से ज्यादा महिलाओं को गैस मिला। देश आज उस मार्ग पर बढ़ रहा है जहां मजहब की वजह से कोई पीछे न छूटे, सभी को आगे बढ़ने के समान अवसर मिले, सभी अपने सपने पूरे करें। सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास ये मंत्र मूल आधार है। देश की नीयत और नीतियों में यही संकल्प झलकता है।

दुनिया की नजर भारत पर
पीएम ने कहा, आज पूरी दुनिया की नजर भारत पर है। जिस सदी को भारत की बताया जा रहा है, उस लक्ष्य की तरफ भारत कैसे आगे बढ़ता है, इसे लेकर सब उत्सुक हैं। इसलिए हम सबका एकनिष्ठ लक्ष्य ये होना चाहिए कि भारत को आत्मनिर्भर कैसे बनाएं।

बता दें कि, पीएम मोदी से पहले 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने AMU के दीक्षांत समारोह (Convocation) को संबोधित किया था। आज के इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और विश्वविद्यालय के कुलाधिपति सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन ने भी शिरकत कीरें।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password