व्यक्तिगत खरीदारों के लिए पीएफसी का 5,000 करोड़ रुपये का बांड निर्गम शुक्रवार को खुलेगा

नयी दिल्ली, 14 जनवरी (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र की पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन (पीएफसी) ने व्यक्तिगत खरीदारों के लिए अपने पहले 5,000 करोड़ रुपये के करयोग्य बांड(जिनकी ब्याज आय पर कर लगेगा) निर्गम की घोषणा की है। यह निर्गम शुक्रवार यानी 15 जनवरी को खुलेगा। कंपनी ने कहा है कि आगे वह इसी तरह के और निर्गम लाएगी।

पीएफसी की योजना दो चरणों में बांड (एनसीडी) के जरिये 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की है। इसका पहला चरण 15 जनवरी को खुलकर 29 जनवरी को बंद होगा।

ये बांड 3 वर्ष, 5 , 10 और 15 वर्ष की परिपक्वता वाले है। संस्थागत और गैर संस्थागत निवेशकों को 3 वर्ष, 5 और 15 वर्ष के बांड पर क्रमश: 4.65 प्रतिशत, 5.65 प्रतिशत और 6.78-6.95 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। इस वर्ग के निवेशकों को 10 वर्ष के बांड पर 6.53 – 6.80प्रतिशत ब्याज की प्राप्ति होगी।

पीएफसी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक आर एस ढिल्लों ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कंपनी विविधीकरण के आधार पर यह निर्गम ला रही है। आगे चलकर कंपनी फिर ऐसा करेगी। दस वर्ष के बांड पर ब्याज

यह पूछे जाने पर कि क्या समूची 10,000 करोड़ रुपये की राशि चालू वित्त वर्ष में ही जुटाई जाएगी, ढिल्लों ने कहा कि यह पहले चरण के निर्गम को मिली प्रतिक्रिया पर निर्भर करेगा।

पीएफसी इससे पहले खुदरा निवेशकों के लिए करमुक्त संरचना बांड लेकर आई थी। यह व्यक्तिगत खरीदारों के लिए उसका पहला करयोग्य निर्गम है।

ढिल्लों ने बताया कि कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में अब तक 67,000 करोड़ रुपये जुटाए हैं। 2020-21 में कंपनी की कुल 1.18 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेने की योजना है।

इन बांड को बीएसई में सूचीबद्ध किया जाएगा। अधिक अभिदान मिलने पर बांड का आवंटन आनुपातिक आधार पर किया जाएगा।

भाषा अजय अजय मनोहर

मनोहर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password