petrol and diesel Tax increased: खतरे की घंटी? पेट्रोल पर 6 और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर बढ़ाया गया टैक्स

petrol and diesel Tax increased: खतरे की घंटी? पेट्रोल पर 6 और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर बढ़ाया गया टैक्स

petrol and diesel Tax increased

NEW DELHI: 1 जुलाई 2022 को केंद्र सरकार ने पेट्रोल, डीजल और एविएशन टर्बाइन फ्यूल (ATF) के निर्यात पर बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने पेट्रोल, डीजल और हवाई जहाज में इस्तेमाल होने वाले एटीएफ के एक्सपोर्ट पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने का फैसला लिया है।बता दें सरकार ने पेट्रोल और एटीएफ के निर्यात पर 6 रुपये प्रति लीटर की दर से टैक्स लगाया है। डीजल के निर्यात पर 13 रुपये प्रति लीटर का टैक्स लगाया गया है। वहीं, सोने की मांग पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने इसके आयात पर शुल्क बढ़ा दिया है।petrol and diesel Tax increased

एक अलग सरकारी अधिसूचना में कहा गया है कि सरकार ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की ऊंची कीमतों के कारण उत्पादकों को अप्रत्याशित लाभ के बदले घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर 23,230 रुपये प्रति टन का अतिरिक्त कर लगाया है।

सोने की कीमत में आएगा उछाल

वहीं, सरकार ने सोने के आयात पर बेसिक इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दी है। पहले इसका रेट 7.5 फीसदी था। इससे सोना खरीदना और महंगा हो जाएगा। petrol and diesel Tax increased

निर्णय लेने का कारण?
निर्यात पर कर तेल रिफाइनरियों, विशेष रूप से निजी क्षेत्र के लिए है, जो यूरोप और अमेरिका जैसे बाजारों में ईंधन के निर्यात से बहुत लाभान्वित होते हैं। दूसरी ओर, घरेलू स्तर पर कच्चे तेल के उत्पादन पर लगाया जाने वाला कर स्थानीय उत्पादकों के लिए है, जिन्हें कच्चे तेल की उच्च अंतरराष्ट्रीय कीमतों से अप्रत्याशित लाभ मिल रहा है।इन करों के उछाल से निर्यात में कमीं आएगी और स्थानीय ईंधन की आपूर्ति और अधिक होगी।

क्या पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ेंगे?
बता दें कि सरकार के इस फैसले का असर घरेलू पेट्रोल-डीजल के रेट पर नहीं पड़ने वाला है। सरकार के मुताबिक इस फैसले से देश में फ्यूल के दाम पर कोई असर नहीं पड़ेगा, बल्कि इन चीजों की उपलब्धता बनी रहेगी।

घरेलू पेट्रोल और डीजल की कीमतें मई के बाद से स्थिर हैं, जब से सरकार ने कीमतों में कटौती की घोषणा की थी। 21 मई, 2022 को पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क में 8 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर की कटौती की घोषणा के बाद से ईंधन की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

घरेलू ईंधन की कीमतें कम रहने की संभावना है। सरकार ने आज जो एक्सपोर्ट पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने का ऐलान किया है, इससे पेट्रोल डीजल की घरेलू कीमतों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।petrol and diesel Tax increased

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password