ब्रिटेन में कोविड-19 टीकों के नाम पर ठगी करने वालों से लोगों को किया गया सतर्क

(अदिति खन्ना)

लंदन, नौ जनवरी (भाषा) ब्रिटेन की राष्ट्रीय अपराध एजेंसी (एनसीए) ने देशवासियों को सचेत किया है कि देश में कुछ धोखेबाज कोविड-19 टीका लगाने के नाम पर लोगों से उनके बैंक खातों संबंधी जानकारी या नकद राशि मांगकर पैसे ऐंठ रहे हैं।

ब्रिटेन में फाइजर/बायोएनटेक और ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका के टीके लगाने का काम शुरू हो चुका है। ऐसे में प्राधिकारियों ने इस सप्ताह एक संदेश भेजकर टीकों संबंधी घोटालों को लेकर लोगों को सतर्क किया है।

लंदन में एक व्यक्ति ने स्वयं को टीका लगाने वाला बताकर 92 वर्षीय महिला से 160 पाउंड ठग लिए, जिसकी जांच शहर की पुलिस कर रही है।

एनसीए ने कहा कि वह लोगों को सतर्क रहने और एनएचएस (राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा) कोविड टीकाकरण कार्यक्रम संबंधी मूलभूत सलाह का पालन करने की अपील करने के लिए सरकार एवं कानून प्रवर्तन के साथ मिलकर काम कर रही है।

उसने कहा कि एनएचएस कोविड टीकाकरण कार्यक्रम के तहत मुफ्त में टीका लगाया जाएगा और एनएचएस टीकों के लिए कोई भुगतान करने को नहीं कहेगा और न ही बैंक खातों की जानकारी मांगेंगा।

एनसीए में राष्ट्रीय आर्थिक अपराध केंद्र के महानिदेशक ग्राएमे बिगर ने कहा, ‘‘धोखाधड़ी के मामले अभी कम है, लेकिन इनकी संख्या बढ़ रही है।’’

ब्रिटेन के गृह मंत्रालय में सुरक्षा राज्य मंत्री जेम्स ब्रोकेनशायर ने कहा, ‘‘यह दुखद वास्तविकता है कि धोखेबाज और घोटाला करने वाले इस वैश्विक महामारी का इस्तेमाल लोगों को ठगने के लिए कर रहे हैं। यदि आपको कोई ई-मेल या संदेश भेजकर या फोन कॉल करके एनएचएस से संबंधित होने का दावा करता और आपसे टीके का भुगतान करने को कहता है, तो यह घोटाला है।’’

ब्रिटेन में राष्ट्रीय स्तर पर धोखाधड़ी एवं साइबर अपराध के मामले दर्ज करने वाले केंद्र ‘एक्शन फ्रॉड’ ने सचेत किया कि कोविड-19 टीकाकरण के करीब 57 मामले दर्ज किए गए हैं।

भाषा सिम्मी माधव

माधव

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password