Parenting Tips: पेरेंट्स की कौन सी आदतों से दूर होते हैं बच्चे, आज ही करें

Parenting Tips: पेरेंट्स की किन आदतों से दूर होते हैं बच्चे, आज ही करें इनमें सुधार, बिताये बच्चों के साथ वक्त

Parenting Tips
Share This

Parenting Tips: आजकल के माता-पिता के लिए पेरेंटिंग काफी चुनौतीपूर्ण बन गया है। वे अपने हिसाब से अपना बेस्ट देते हैं। अच्छे स्कूल में शिक्षा देते हैं, अच्छे कपड़े देते हैं और महंगे तोहफे लाते हैं लेकिन सबसे अच्छा तोहफा, जो कोई माता-पिता अपने बच्चे को दे सकते हैं, वह है उनका समय।

पैसे के बल पर मां-बाप बच्चे को नाना प्रकार की सुविधाएं तो उपलब्ध करा देते हैं, लेकिन इसी पैसे को कमाने की होड़ में अक्सर अपने बच्चे को समय नहीं दे पाते हैं।

ऐसे में बिजी शेड्यूल के साथ ही आपकी कुछ आदतें आपको अपने बच्चे से दूर कर सकती हैं। इन आदतों में सबसे आम है लगातार मोबाइल फोन का इस्तेमाल। आइए जानते हैं कैसे मोबाइल आपके और आपके बच्चे के बीच दूरी का कारण बनता है।

कैसे दूरी बढ़ाता मोबाइल फोन

अधिकतर हम काम के चक्कर में मोबाइल फोन में व्यस्त रहते हैं, जिसमें अधिक फोकस की जरूरत होती है। ऐसे में जब बच्चे अपनी तरफ आपका ध्यान आकर्षित करने की कोशिश करते हैं, तब आप उन पर चिल्ला देते हैं। ऐसा करने से बच्चे डर जाते हैं और दोबारा आपके पास आने से कतराते हैं।

वे गुमसुम हो सकते हैं या फिर आपको बिना बताए किसी अन्य गलत काम में लिप्त हो सकते हैं। वे आपसे कोई भी बात शेयर करने से बचेंगे, जिससे आपके बच्चे और आपके बीच दूरी बढ़ सकती है।

बच्चों को मोबाइल की आदत लगाना

दूसरी सबसे बड़ी गलती, जो मोबाइल फोन के इस्तेमाल से होती है, वह ये है कि अपने काम को आसान करने के लिए माता-पिता बच्चे को कम उम्र में ही मोबाइल पकड़ा देते हैं। यह एक बहुत गंभीर समस्या को जन्म देता है, जिसे मोबाइल एडिक्शन कहते हैं।

बच्चों को मोबाइल, वीडियो गेम्स, यूट्यूब, सोशल मीडिया आदि की लत लग जाती है और अगर अपने काम में व्यस्तता के चलते हम इनके मोबाइल देखने की सीमा तय नहीं करते हैं और वह क्या देख रहे हैं, इस पर निगरानी नहीं रखते हैं तो भविष्य में हमें खुद इसका भुगतान करना पड़ सकता है। इसकी वजह से बच्चे कई प्रकार की मानसिक और शारीरिक बीमारियों से पीड़ित हो सकते हैं और साथ ही हमसे दूर भी होते जाते हैं।

मोबाइल के इस असर को कम करने के लिए क्या करें

क्योंकि मोबाइल के बिना आजकल जीवन कठिन है। इसलिए न चाह कर भी आप अपना फोन उठा ही लेते हैं। कभी पेमेंट करना है, तो कभी कोई जरूरी काम हो। इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना है कि इस मामले में एक संतुलत बना रहे।

ऐसे में आप इन बातों से अपना मोबाइल के नकारात्मक असर को कम कर सकते हैं।

दिन भर में कम से कम एक घंटा बच्चों के साथ बिताएं।

उनसे बातें करें। उनके दिन भर के अनुभवों को सुनें और अपने अनुभव शेयर करें।

उनके साथ कहीं बाहर या पार्क में जाकर खुले आसमान के नीचे खेलें।

जब बच्चे आसपास हों तो कोशिश करें कि कम से कम फोन का इस्तेमाल करें क्योंकि बच्चे आपका ही अनुसरण करके बड़े होते हैं।

इन छोटी छोटी बातों से बच्चे आप से जुड़े रहेंगे और इन बातों को ध्यान रख जब आप आप अपना फोन उठाएंगे, तो एक संतुलन बने रहने के कारण आपके रिश्ते पर गहरा असर नहीं पड़ेगा।

यह भी पढ़ें 

Asian Para Archery Championships 2023: मोदी ने पहला स्थान हासिल करने पर भारतीय खिलाड़ियों को दी बधाई

Koffee With Karan: अपनी डेब्यू फिल्म में आलिया को कास्ट नहीं करना चाहते थे वरूण-सिद्धार्थ, करण ने किया रिवील

Rashid Khan: राशिद खान नहीं खेलेंगे बिग बैश लीग, हैरी ब्रुक भी बाहर, जानें पूरी खबर

Sara Tendulkar Deepfake: रश्मिका के बाद सचिन तेंदुलकर की बेटी हुई डीपफेक का शिकार, क्रिकेटर संग तस्वीर हुई वायरल, कही बात

MP Election 2023: मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को तीसरी बार सेवावृद्धि का प्रस्ताव, बढ़ सकता है कार्यकाल

Parenting Tips, पेरेंट्स, बच्चों के साथ वक्त, माता-पिता, मोबाइल फोन,

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password