Parenting Tips : स्कूल के लिए नहीं उठता बच्चा, जानिए बच्चे के लिए उम्र के हिसाब से कितना सोना है जरूरी

Parenting Tips : स्कूल के लिए नहीं उठता बच्चा, जानिए बच्चे के लिए उम्र के हिसाब से कितना सोना है जरूरी

नई दिल्ली। दो साल बाद कोविड Parenting Tips के चलते बंद होने के चलते स्कूल बंद थे। जिसमें बच्चों की सुबह उठने की आदत छूट चुकी है। लेकिन अब स्कूल चालू हो चुके हैं। Kids Sleep Chart According To Age ऐसे में बच्चों को सुबह समय से उठाना एक टेडी खीर है। इतना ही नहीं अगर पेरेंट्स वर्किंग हों तो ये काम और अधिक मुश्किल हो जाता है। उठने के बाद बच्चे घंटो आलस में रहते हैं। ऐसे में How Much Sleep Need For Kids:आपकी टेंशन कम करने के लिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि चिकित्सकों के अनुसार किस उम्र में कितनी नींद जरूरी होती है। (Sleep For Kids) इतना ही नहीं शरीर के साथ—साथ बच्चों का मानसिक रूप से रिलेक्स होना भी जरूरी है। (Sleep For Brain) ताकि दूसरे दिन स्कूल जाने पर वे एनर्जी (Energy) से भरे रहें। तो चलिए एक्सपर्ट से जानते हैं कि कितने घंटे की नींद एक बच्चे के लिए जरूरी होती है।

बच्‍चों के लिए कितने घंटों की नींद है जरूरी —

बच्चों की नींद उनकी उम्र के हिसाब से होती है। बच्चा पैदा होने के बाद दिन के 24 घंटों में कम से कम 18 घंटे की नींद लेता है।

4 से 12 महीने में —
जब बच्चा 4 से 12 महीने का हो जाता है तो वो 12 से 16 घंटे की नींद लेता है।

1 से 2 साल —
1 से 2 साल की उम्र के बच्चे को 11 से 14 घंटे सोना चाहिए।

3 से 5 साल —
आपको बता दें बच्चों की उम्र जैसे—जैसे बढ़ती है उनकी नींद के समय में अंतर आने लगता है। 3 से 5 साल की उम्र के बच्चों को कम से कम 10 से 13 घंटे की नींद लेनी चाहिए।

6 से 12 साल —
6 से 12 साल के बच्‍चे के लिए 9 से 12 घंटे की नींद जरूरी है।

13 से 18 साल —
13 से 18 साल के बच्‍चों को 8 से 10 घंटे की नींद लेनी चाहिए।

पूरी नींद लेने के फायदे —

  • जब बच्चा पूरी नींद लेता है यानि गहरी और अच्छी नींद लेता है तो इस कंडीशन में उसके शरीर में जो ग्रोथ हार्मोन होते हैं वे बहुत तेजी से एक्टिव होते हैं।
  • पूरी और अच्छी नींद लेने का दूसरा फायदा ये होता है कि अच्छी नींद लेने से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। जिससे बीमारियां, इंफेक्‍शन, खांसी और जुकाम दूर से बचाव होने में मदद मिलती है।
  • अच्छी नींद लेने से दिनभर की थकान और कमजोरी दूर होती है। जिससे शरीर एनर्जेटिक यानि स्फूर्ति भरी रहती है।
    यदि बच्चे की नींद पूरी नहीं होती है तो इस कंडीशन में बच्चा चिड़चिड़ा हो जाता है। इसका असर ये होता है कि बच्चे को कई तरह की मानसिक बीमारियां घेरने की आशंका रहती है। इसलिए बेहद जरूरी है कि बच्चे की उम्र के हिसाब से उसकी नींद पूरी होती रहे। इसका सीधा असर बच्चे की शारीरिक और मानसिक विकास पर होगा।

knowledge Google Search : सावधान! कहीं आप भी तो सर्च नहीं करते Google Search पर ये चीजें, होगी सीधी जेल!

School Holiday in August 2022 : अगस्त में बच्चों की बल्ले-बल्ले, अगले महीने स्कूल की छुट्टियां ही छुट्टियां, देखें लिस्ट

Traffic Challan Tips : दूसरों को अपनी गाड़ी चलाने के लिए देने वाले पढ़ लें ये खबर, बढ़ सकती है परेशानी

Parenting Tips : अगर आपका बच्चा भी बहुत नखरे करता है, तो समझ लें उसकी सायकॉलजी, ये टिप्स आएंगे काम

House Flies Home Remedies: बारिश में घर में हो रही हैं मक्खियां, ये हैं भगाने के रामबाण उपाय,दोबारा नहीं भिनभिनाएंगी

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password