Corona Third Wave: कोरोना की तीसरी लहर की दहशत! संक्रमित हुए 300 से ज्यादा बच्चे, चार की मौत…

सागर। प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर तबाही मचाई है। हजारों लोग कोरोना की चपेट में आकर काल के गाल में समा गए। वहीं स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कोरोना की दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर की भी चेतावनी दी है। वहीं तीसरी लहर में बच्चों को सबसे ज्यादा प्रभावित होना बताया जा रहा है। वहीं तीसरी लहर से पहले ही कोरोना का कहर साफ देखने को मिल रहा है। प्रदेश के सागर जिले में बीते एक महीने से बच्चों पर भी कोरोना का जमकर कहर बरसा है। यहां पिछले एक महीने में 302 बच्चे कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। वहीं चार बच्चों को कोरोना महामारी ने दम तोड़ने पर मजबूर किया है। कोरोना संक्रमण की चपेट से नवजात भी पूरी तरह सुरक्षित नहीं हैं। हाल ही में एक 9 माह के नवजात बच्चे की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई। वहीं जिले में कोरोना से ग्रसित 15 बच्चों की हालत गंभीर बताई जा रही है। इन सभी बच्चों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद प्रशासन समेत सरकार हर संभव प्रबंध कर रही है। तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए तैयारियां शुरू हो चुकी हैं।

मरीजों की संख्या में आ रही कमी…
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,65,30,132 हो गई है। मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, 3,741 और लोगों के संक्रमण से जान गंवाने के बाद इस संक्रामक रोग से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 2,99,266 हो गई है। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 28,05,399 रह गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 10.57 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से उबरने वाले लोगों की राष्ट्रीय दर 88.30 प्रतिशत हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, इस महामारी से उबरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 2,34,25,467 हो गई है जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.13 प्रतिशत है। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख के आंकड़े के पार चले गए थे। वहीं, 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार और इस साल चार मई को मामले दो करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में 22 मई तक कुल 32,86,07,937 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई।

21 लाख लोगों के लिए गए सैंपल
इनमें से 21,23,782 नमूनों की जांच शनिवार को की गई। देश में जिन 3,741 और लोगों ने जान गंवाई हैं उनमें से 682 की महाराष्ट्र, 448 की तमिलनाडु, 451 की कर्नाटक, 218 की उत्तर प्रदेश, 201 की पंजाब, 182 की दिल्ली, 176 की केरल, 154 की पश्चिम बंगाल, 134 की उत्तराखंड, 118 की आंध्र प्रदेश, 115 की राजस्थान, 103 की छत्तीसगढ़ और 98 लोगों की मौत हरियाणा में हुई। इस वैश्विक महामारी से अब तक 2,99,266 लोग जान गंवा चुके हैं। इनमें से 87,300 लोगों की महाराष्ट्र, 24,658 की कर्नाटक, 23,013 की दिल्ली, 20,046 की तमिलनाडु, 18,978 की उत्तर प्रदेश, 14,208 की पश्चिम बंगाल, 13,089 की पंजाब और 12,494 लोगों की मौत छत्तीसगढ़ में हुई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में जिन लोगों की मौत हुई, उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक को अन्य बीमारियां भी थीं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password