‘ऑक्सीजन कंसंट्रेटर’ से बनाई जा सकती है हर मिनट 5 लीटर मेडिकल ऑक्सीजन, केंद्र ने मप्र को दी 1000 मशीनें -

‘ऑक्सीजन कंसंट्रेटर’ से बनाई जा सकती है हर मिनट 5 लीटर मेडिकल ऑक्सीजन, केंद्र ने मप्र को दी 1000 मशीनें

भोपाल: देशभर में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। वहीं मध्यप्रदेश में भी कोरोना संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदेश में पिछले 24 घंटों में करीब 2240 नए मरीज मिले हैं। जिसमें भोपाल और इंदौर में मरीजों की संख्या में तेजी आई है। इसी स्थिति को देखते हूए प्रदेश सरकार ने कई अहम फैसले लिए हैं, जिनमें इलाज में उपयोग किये जाने वाले मेडिकल उपकरण बढ़ाने को लेकर तेजी से फैसले लिए जा रहे हैं।

इसी क्रम में कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए जरुरी मेडिकल ऑक्सीजन ( Medical Oxygen) अब सीधे हवा से ली जाएगी। इसके लिए हर जिले में स्वास्थ्य विभाग ने ‘ऑक्सीजन कंसनट्रेटर’ मशीन भेजी गई है। इस मशीन को दो मरीजों के काम में लिया जा सकता है। इसके अलावा यह मशीन सीधे हवा के माध्यम से प्रति मिनट पांच लीटर मेडिकल ऑक्सीजन बनाएगी

केंद्र ने मप्र को दी एक हजार मशीनें

मेडिकल ऑक्सीजन की संभावित दिक्कत को देखते हुए केंद्र ने मप्र को एक हजार मशीनें दी हैं। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के एक जिले में कम से कम दो और अधिकतम 20 मशीने उपलब्ध करवाई हैं। वहीं शनिवार को 400 और मशीने जिलों व मेडिकल कॉलेजों में भेजी जाएगी। जिसे जरूरत के अनुसार जिलों में बांटा जाएगा।

इन जिलों में दी गई इतनी मशीन

भोपाल में 3, इंदौर में 2, जबलपुर में 9, ग्वालियर 2, उज्जैन में 5 ऑक्सीजन कंसनट्रेटर मशीन उपलब्ध कराई है।

यहां सर्वाधिक भेजी गई मशीन

वहीं स्वास्थ्य विभाग ने छतरपुर में 23, शहडोल में 20, बालाघाट में 18, गुना में 17, दमोह में 16, शिवपुरी, सतना,राजगढ़ और नरसिंहपुर में 15 मशीनें उपलब्ध कराई है. आपको बता दे इन जिलों में स्वास्थ्य सुविधाएं कमजोर है, और बड़े शहरों से इनकी कनेक्टिविटी भी दूर है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password