उंगलियों को एक बार चटकाने के बाद उसे तुरंत दोबारा क्यों नहीं चटका सकते, जानिए इसके पीछे की वजह

ungli chatkana

नई दिल्ली। घरवाले कह-कह कर थक गए कि हमें उंगलियां नहीं चटकानी चाहिए। लेकिन हम नहीं मानते हैं। यह एक लत जैसी बन जाती है। क्योंकि जब हम उंगलिया चटकाते हैं तो हमें हल्का सा सुकून मिलता है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि उंगली चटकाने पर आवाज क्यों आती है?

इस कारण से आती है आवाज

दरअसल, हमारी उंगलियों के बीच में तरल पदार्थ से भरे कुछ कैप्सूल होते हैं। उसी की मदद से हमारी उंगलियां घूमती-फिरती है। यह कैप्सूल चिकनाई का काम करता है। जैसे हम किसी उपकरण में ग्रीस लगाते हैं ताकि वह अच्छी तरह से घूमता रहे। उसी प्रकार से ये कैप्सुल हमारी उंगलियों को घूमाने-फिराने का काम करते हैं। कैप्सूल जो होते हैं वो वास्तव में गैस के बने होते हैं। ऐसे में जब हम अपनी उंगलियों को खींचते हैं तो इन कैप्सूलों पर भी दबाव पड़ता है। जिसकी वजह से उसके अंदर बना बुलबुला फूट जाता है। इन्हीं बुलबुलों के फूटने से यह आवाज पैदा होती है।

दोबारा इसलिए नहीं चटकता

लेकिन जब आप एक बार उंगली अच्छे से चटका लेते हैं तो तुरंत उसे दोबारा इसलिए नहीं चटका सकते है, क्योंकि गैस रूपी बुलबुला जो फूटा था उसे पूरी तरह से कैप्सूल बनने में 20 मिनट लग जाते हैं। यानी जब आप अगली बार उंगली चटकाएंगे तो उससे आवाज आने में लगभग 20 मिनट का समय लगेगा।

क्या उंगलियां चटकाने से गठिका का खतरा है?

यह एक ऐसा सवाल है जो हर किसी के मन में उठता है। क्योंकि जब हम अपनी उंगली चटकाते हैं तो हमें मम्मी,पापा और न जाने कितने लोग इस काम को करने से मना कर चुके होते हैं। वहीं इस सवाल का जवाब है नहीं। क्योंकि अभी तक किसी भी रिपोर्ट में यह प्रूफ नहीं हो पाया है कि उंगलियां चटकाने से किसी को गठिया या Arthritis हो सकता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password