OmniFibers : खुशखबरी! अब नहीं फूलेगी सांस, आ गया ऐसा कपड़ा, जरूरत के हिसाब से फैलकर देगा ऑक्सीजन

OmniFibers

नई दिल्ली। अगर आप OmniFibers भी एक डांसर, सिंगर या एथलीट हैं। सांस की समस्या से परेशान हैं। या जरा—जरा में आपका दम फूलने लगता है। तो यह खबर आपके बहुत काम की है। आपको सुनने में जरूर अजीब लग रहा होगा। पर ये सच है। दरअसल मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Massachusetts Institute of Technology- MIT) के शोधकर्ताओं ने एक ऐसा फाइबर बनाया है।

जिससे बने कपड़े से शरीर को उसके जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन दी जा सकेगी। जिसका नाम है ओमनीफाइबर। शोधकर्ताओं द्वारा बनाए गए इस फाइबर को स्वीडन में एक कपड़े में बदला गया है। शोधकर्ताओं की मानें तो इस कपड़े से सिंगर, एथलीट या फिर किसी बीमारी या सर्जरी के बाद लोगों को सांस संबंधी दिक्कतों से निजात मिलने में काफी मदद मिलेगी। ओमनीफाइबर से बने कपड़े में एक खास तरह का फ्लूडिक सिस्टम हैं जो खिंचाव, दबाव या कंपन पर काम करता है।

आखिर क्या है ओमनीफाइबर —
इस गजब के फाइबर को ओमनीफाइबर (Omnifiber) नाम दिया गया है। इसे कई लेयर में बनाया गया है। इन परतों के बीच में फ्लूड चैनल (Fluid Channel) लगाया गया है। जो एक फ्लूडिक सिस्टम के तहत चलता है।
इस कपड़े को पहनते ही इसके अंदर का सिस्टम काम करने लगता है। इसमें लगे सेंसर्स तुरंत पता करना शुरू कर देते हैं कि कपड़े में कितना खिचाव आ रहा है। उस हिसाब से इसके फ्लूड चैनल शरीर को आक्सीजन देने के लिए बाहर से हवा खीचनें शुरू कर देता है साथ ही डायरेक्ट बॉडी के द्वारा त्वचा को पहुंचाना शुरू कर देता है।

किसी भी कपड़े के रूप में कर सकते हैं उपयोग —
रिसर्च टीम में शामिल वैज्ञानिक टीम के सदस्य ओजगुन किलिक असफर के अनुसार यह नया फाइबर बेहद पतला होने के कारण इसे किसी भी कपड़े के रूप में उपयोग किया जा सकता है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसे इंसानी त्वचा के हिसाब से ही बनाया गया है। इससे त्वचा को किसी प्रकार का कोई भी नुकसान नहीं होगा। इसकी बाहरी परत को सामान्य पॉलीस्टर जैसे मटेरियल से बनाया गया है। वैज्ञानिकों की मानें तो यह रोबोटिक आर्टिफिशियल मसल फाइबर (Robotic Artificial Muscle Fiber) पहले से बेहतर है।

आमतौर पर थर्मली एक्टीवेटेड होने वाले आर्टिफिशियल मसल फाइबर गर्मी के हिसाब से काम करते हैं। जिससे इंसानी त्वचा के जलने की संभावना अधिक होती है। या फिर इन फाइबर्स की ऊर्जा क्षमता भी कम होती है। इसके अलाव सबसे बड़ी बात यह है कि इसे पहनने के लिए ट्रेनिंग की जरूरत होती है।

सिंगर्स ने पहना इससे बना कपड़ा

ओजगुन और उनकी टीम फेमस ओपरा सिंगर केल्सी कॉटन के साथ प्रयोग किया। ओजगुन किलिक की टीम ने प्रारंभिक दौर में इस फाइबर की मदद से अंडरगारमेंट कुछ सिंगर्स को गाते समय पहनने के लिए दिया था। उन सिंगर्स ने गाना गाते समय पाया कि इससे उन्हें काफी मदद मिली। इस दौरान इनके उन्हें सांस लेने में तकलीफ भी नहीं हुई। साथ ही साथ उनका ऑक्सीजन का लेवल बिल्कुल बेहतर बना रहा था। वे बड़े ही आराम से गाना गा पा रहे थे। अक्सर ऐसा होता है कि सिंगिंग में ऊंचे सुर लगाने पर सांस फूल जाती है। पर इनके साथ ऐसा नहीं हुआ। बल्कि उन्हें सांस लेने में काफी मदद भी मिली। इसी के बाद यह कपड़ा एथलीट्स को पहनाकर एक्सरसाइज भी कराई गई। यहां भी यह मददगार साबित हुआ। जिसमें उन्हें भी सांस लेने में काफी ज्यादा मदद मिली।

बचाया जा सकेगा पेशेंट को
ओजगुन की टीम के वैज्ञानिकों के अनुसार सांस लेने में अगर किसी तरह से भी मदद मिलती है तो इससे मरीजों को बचाया जा सकता है। सिंगर्स पर किए गए इसके प्रयोग से उनकी परफॉर्मेंस में सुधार होगा। एथलीट्स और तेज हो सकते हैं। स्कीयर, वेटलिफ्टर किसी भी तरह के ऐसे व्यायाम जिसमें सांस की जरूरत सबसे ज्यादा है। वहां इस कपड़े का उपयोग कारगार साबित होगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password