Nepal Politics: ओली 3 दिन बाद फिर बने नेपाल के प्रधानमंत्री, सरकार बनाने के लिए बहुमत जुटाने में नाकाम रहा विपक्ष

काठमांडू। (भाषा)के पी शर्मा ओली आज तीसरी बार नेपाल के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने जा रहे हैं। उन्हें बृहस्पतिवार को इस पद पर फिर से नियुक्त किया गया जब विपक्षी पार्टियां नयी सरकार बनाने के लिए संसद में बहुमत हासिल करने में विफल रहीं। राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने सीपीएन-यूएमएल के अध्यक्ष, 69 वर्षीय ओली को बृहस्पतिवार रात को फिर से प्रधानमंत्री नियुक्त किया। इससे तीन दिन पहले वह प्रतिनिधि सभा में अहम विश्वास मत हार गए थे।

30 दिन में बहुमत साबित करना होगा

ओली को एक महीने यानी 30 दिन में संसद में बहुमत साबित करना होगा। अगर ऐसा नहीं हुआ यानी ओली बहुमत साबित नहीं हो कर पाए तो संसद को फिर भंग किया जाएगा और देश में नए चुनाव होंगे। नेपाली कांग्रेस और NCP गुरुवार को बहुमत जुटाने में नाकाम रहे।

सरकार बनाने के लिए 136 सीटों की जरूरत

सीपीएन-माओइस्ट सेंटर के अध्यक्ष पुष्पकमल दहल ‘प्रचंड’ का समर्थन प्राप्त था। लेकिन ओली के साथ अंतिम वक्त में बैठक करने के बाद माधव कुमार नेपाल के रुख बदलने पर देउबा का अगला प्रधानमंत्री बनने का सपना टूट गया। ओली को अब 30 दिन के भीतर सदन में विश्वास मत हासिल करना होगा जिसमें विफल रहने पर संविधान के अनुच्छेद 76 (5) के तहत सरकार बनाने का प्रयास शुरू किया जाएगा। ओली की अध्यक्षता वाली सीपीएन-यूएमएल 121 सीटों के साथ 271 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में सबसे बड़ी पार्टी है। वर्तमान में सरकार बनाने के लिए 136 सीटों की जरूरत है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password