New Year Horoscope 2023 kark Rashi : नए साल में कर्क राशियों के ​जीवन में आएगा भूचाल, पढ़ें वार्षिक राशिफल

New Year Horoscope 2023 kark Rashi : नए साल में कर्क राशियों के ​जीवन में आएगा भूचाल, पढ़ें वार्षिक राशिफल

नई दिल्ली। New Year Horoscope 2023 kark Rashi  दो महीने बाद नया साल शुरू हो रहा है। ऐसे में हम बात कर रहे हैं नए राशि चक्र की चौथी राशि यानि कर्क की। कर्क राशि के जातकों के लिए नया साल कैसा बीतने वाला है। चलिए जानते हैं पंडित अनिल पांडे से।

कर्क राशि का वर्ष 2023 का राशिफल

कर्क की प्र​कृति —
कर्क राशि राशि चक्र की चौथी राशि है। कर्क का अर्थ केकड़ा होता है। इस राशि का प्रसार 90 अंश से 120 अंश तक होता है। अंग्रेजी में इसे कैंसर (Cancer) कहते हैं। इस राशि को कर्कट चतुर्थ और कुलीर भी कहते हैं। पुनर्वसु नक्षत्र का अंतिम चरण, पुष्य नक्षत्र के चारों चरण तथा अश्लेषा नक्षत्र के चारों चरण मिलकर कर्क राशि का निर्माण करते हैं। इस राशि का स्वामी चंद्रमा है। इसका स्वभाव चर स्वभाव है। कर्क राशि की प्रकृति सोम्य है। इस राशि का तत्व जल है, गुण सात्विक है जाति ब्राम्हण है। यह रात्रि में बलि होती है। यह उत्तर दिशा की स्वामी है। यह राशि कफ प्रकृति की है। शरीर में हृदय के अलावा, उदर, सीना और गुर्दे पर होने वाले सभी क्रियाओं का असर इसी राशि से देखा जाता है। यह एक सजल राशि है। इस राशि के लोग लोगों का स्वभाव भौतिक सुखों में लगे रहना लज्जालु स्थिर गति और समयानुसार निर्णय लेना होता है। इस राशि में जन्म लेने वाला जातक कार्य करने वाला, धनवान, शूरवीर, धार्मिक, गुरु का प्रिय, सिर का रोगी, बुद्धिमान, दुर्लभ शरीर वाला, सभी कार्यों का ज्ञाता, भयंकर क्रोधी, निर्बल, दुखी अच्छे मित्रों वाला होता है। इस राशि वालों के लिए शुक्र बाधक ग्रह होता है। वृष राशि बाधक राशि होती है और मंगल और चंद्रमा इनके लिए शुभ ग्रह होते हैं।

​कर्क की स्थिति —
वर्ष के प्रारंभ में गुरु मीन राशि में रहेंगे। 20 अप्रैल 2023 से मेष राशि में गोचर करेंगे। 16 सितंबर 2023 से गुरु मेष राशि में वक्री होंगे तथा 23 दिसंबर से मार्गी हो जाएंगे। इसी प्रकार शनि वर्ष के प्रारंभ में मकर राशि में रहेंगे तथा 20 फरवरी को कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। 19 जून से शनि कुंभ राशि में वक्री होंगे। 24 अक्टूबर से शनि कुंभ राशि में मार्गी हो जाएंगे। राहु वर्ष के प्रारंभ में मेष राशि में रहेंगे। दिनांक 28 अक्टूबर 2023 को राहु वक्री चाल चलते हुए मीन राशि में प्रवेश करेंगे तथा पूरे वर्ष भर मीन राशि में ही रहेंगे। अन्य ग्रह जैसे सूर्य मंगल शुक्र आदि महीने के अनुसार बदलते रहेंगे।

धन उपार्जन-
इस वर्ष आपके पास धन आने का सामान्य योग है। गलत रास्ते से धन आने का योग है। जुलाई ,नवंबर और दिसंबर के महीने में अच्छी धनराशि आपको प्राप्त होगी। अक्टूबर तक आपके खर्चे भी बहुत रहेंगे। इस समय आपको संभल कर अपना धन व्यय करना चाहिए।

उपाय-

आपको चाहिए कि आप कुए के कछुए को लाई खिलाए और कोढ़ी को दान दें।

कैरियर-
दूरस्थ स्थानांतरण का योग नहीं है। यह संभव है कि आपका कार्य इसमें बदल जाए। आप के विवाद बढ़ेंगे। अप्रैल के बाद कार्यालय में आपका रुतबा बढेगा। इस वर्ष आपको बाद विभाग से बचना चाहिए। आप बगैर किसी काम के भी इस वर्ष अपने अधिकारियों से संग्राम कर सकते हैं। अगर आप बहुत दिमाग से बचेंगे वाद विवाद से बचेंगे तो आपका प्रमोशन भी हो सकता है।

उपाय-

आपको चाहिए कि आप काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।

भाग्य-
अप्रैल तक आपका भाग्य आपकी लगातार मदद करेगा । अप्रैल माह तक आप जो कुछ भी प्रयास करेंगे सभी प्रयास सफल होंगे ।आपको सभी पेंडिंग कार्य को संपन्न करने का प्रयास करना चाहिए। इस प्रकार से कर्क राशि वालों को किसी भी काम को करने के लिए अप्रैल के बाद विशेष परिश्रम करने होंगे। 28 अक्टूबर के बाद आपका भाग्य आपकी बिल्कुल मदद नहीं करेगा।

उपाय-

गुरुवार का व्रत रखें और राम रक्षा स्त्रोत का जाप करें।

परिवार-
इस वर्ष आपके पिताजी या माताजी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है । यह भी संभव है कि आपकी अपने माता पिता जी से कुछ वाद विवाद हो जाए। भाई बहनों से आपके संबंध सामान्य रहेंगे अर्थात जैसे चल रहे हैं वैसे ही रहेंगे। अगर आपके पिताजी या माताजी 70 साल से ऊपर के हैं इस अवधि में आपको उन पर विशेष ध्यान देना पड़ेगा ।आपको अपने संतान से सहयोग नहीं मिलेगा ।
उपाय-

किसी विद्वान ब्राह्मण से राहु और केतु के शांति का उपाय करवाएं।

स्वास्थ्य-
इस वर्ष अप्रैल 2023 तक आपका स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मई 2023 से स्वास्थ्य में थोड़ी कमजोरी आएगी। आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य भी मई 2023 से जून 2023 तक थोड़ा तक थोड़ा नरम गरम चलता रहेगा। जून 2023 के बाद जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा।

उपाय-

आपको चाहिए कि आप मोती की माला धारण करें।

व्यापार-
फरवरी 2023 में आपका व्यापार अपनी बुलंदियों पर होगा। अगर ग्राहक से ठीक से वार्तालाप करोगे तो आपका व्यापार पूरे साल भर उत्तम रहेगा। इसके अलावा आपका व्यापार मई महीने से धीरे धीरे प्रगति करेगा। यह वर्ष आपके व्यापार के लिए अत्यंत उत्तम वर्ष है। इस वर्ष में आपको चाहिए कि आप अपना व्यापार लगातार आगे बढ़ायें।

उपाय-

आपको चाहिए कि आप शनिवार का व्रत करें और शनिवार को दक्षिण मुखी हनुमान जी के मंदिर में जाकर कम से कम 3 बार हनुमान चालीसा का जाप करें।

विवाह-
अविवाहित जातकों के लिए जनवरी और फरवरी के महीने अत्यंत उत्तम है। इस अवधि में विवाह के नए प्रस्ताव आएंगे तथा अगर प्रत्यंतर दशा उत्तम है तो शादी भी हो जाएगी। आपको चाहिए कि आप इस समय अपनी कुंडली को किसी विद्वान ब्राह्मणों को दिखाएं और उसके द्वारा बताए गए उपाय करें।

उपाय-
कुंडली की विवेचना के उपरांत विद्वान ब्राह्मणों द्वारा बताए गए उपायों के अलावा जनवरी और फरवरी के महीने में शुक्रवार के दिन आपको मंदिर पर जाकर गरीबों के बीच में चावल का दान देना चाहिए।

मकान-
मकान कार और सुख-सुविधा की अन्य चीजें को प्राप्त करने की आपको बहुत इच्छा रहेगी। परंतु अप्रैल के महीने तक यह इच्छा सफल नहीं हो सकेगी। अप्रैल के बाद अर्थात मई महीने से संयोग बनने प्रारंभ होंगे। अगर आपकी विंशोत्तरी दशा अच्छी है। मई से सितंबर 2023 के बीच में आपकी इच्छा पूर्ण हो सकती है। इसके अलावा नवंबर और दिसंबर महीने में भी सुख सुविधा की बड़ी चीजें खरीदने का संयोग बन सकता है।

उपाय-

आपको चाहिए कि आप गरीबों को सफेद वस्त्र का दान दें।

वार्षिक उपाय-
ऊपर हर विषय पर अलग-अलग उपाय दिए गए हैं। ये उपाय केवल उस विषय विशेष के लिए ही हैं। जैसे कि अगर आप मकान खरीदना चाहते हैं और मकान खरीदने का कार्य नहीं कर पा रहे हैं तो गरीबों के बीच आपको वस्त्र का दान देना चाहिए। अपने संपूर्ण कष्टों के निवारण के लिए आपको चाहिए कि आप किसी विद्वान ब्राह्मण से शनि की शांति का उपाय वर्ष में दो बार करायें। मां शारदा से मेरी प्रार्थना है आप सभी स्वास्थ्य सुखी और संपन्न रहें।

यह भी पढें :

मेष राशि का वार्षिक राशिफल

वृष राशि का वार्षिक राशिफल

मिथुन राशि का वार्षिक राशिफल

anil kumar 2

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password