Navratri 2021 Sandesh : आ गईं मां दुर्गा, इन संदेशों के साथ आओ मिलकर दें नवरात्रि की शुभकामनाएं

navratra msg

नई दिल्ली। 7 अक्टूबर यानि आज गुरुवार से शारदीय नवरात्री की शुरुआत हो चुकी है। सभी लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को नवरात्रि की शुभकामनाएं दे रहे हैं। आइए हम भी बताते हैं आपको कुछ संदेश। इन संदेशों व शुभकामनाओं के साथ सभी के जीवन में खुशियों की कामना करते हैं।

ये रहे कुछ संदेश —

1. देवी मां के कदम आपके घर में आएं,
आप खुशी से नहाएं
परेशानियां आपसे आंखें चुराए
नवरात्रि की आपको ढेरों शुभकामनाएं
।। जय माता दी ।

2. सुख, शान्ति एवं समृद्धि की
मंगलमय कामनाओं के साथ
आप एवं आप के परिवार को शारदीय नवरात्रि की हार्दिक मंगल कामनायें
मां अम्बे आपको सुख समृद्धि वैभव ख्याति प्रदान करें। जय माता दी।
नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं।

3. लाल रंग की चुनरी से सजा मां का दरबार
हर्षित हुआ मन, पुलकित हुआ संसार
नन्हें-नन्हें कदमों से मां आए आपके द्वार
इस नवरात्रि यही हैं हमारी दुआ
जय माता दी।
हैप्पी नवरात्रि 2021

4. ॐ सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके
शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते !!
हैप्पी नवरात्रि 2021

5. दिव्य है मां की आंखों का नूर,
संकटों को मां करती हैं दूर,
मां की ये छवि निराली
नवरात्रि में आपके घर लाए खुशहाली।।

6. त्रया देवी सर्वभूतेषु शक्ति रूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै नमो नमः

7. मां का पर्व आता है;
हज़ारों खुशियां लाता है;
इस बार माँ आपको वो सब दे;
जो आपका दिल चाहता है।
शुभ नवरात्रि 2021!

8. मां की आराधना का ये पर्व है,
मां के नौ रूपों की भक्ति का पर्व है,
बिगड़े काम बनाने का पर्व है,
भक्ति का दिया दिल में जलाने का पर्व है
शारदीय नवरात्रि की शुभकामनाएं।

8. पिण्डजप्रवरारुद्रा
चण्डकोयास्त्रकैर्युता!
प्रसाद तनुते महयं
चंद्रघण्टेति विश्रुता!!
जय मां चंद्रघण्टा!
नवरात्रि की शुभकामनाएं!

9. सारा जहान है जिसकी शरण में
नमन है उस मां के चरण में,
हम हैं उस मां के चरणों की धूल,
आओ मिलकर मां को चढ़ाएं श्रद्धा के फूल।
शुभ नवरात्रि 2021

10. लाल रंग की चुनरी से सजा है मां का दरबार |
हर्षित हुआ मन, पुलकित हुआ संसार ||
नन्हें-नन्हें कदमों से मां आयें आपके घर- द्वार |
शुभ एवं परम सौभाग्यशाली हो नवरात्रि का त्योहार ||

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password