Mumbai Saki Naka Rape: भाजपा ने दुष्कर्म मामले में आरोपी के लिए की मृत्युदंड की मांग, राज्य सरकार पर साधा निशाना

Devendra Fadnavis

मुंबई। मुंबई के साकीनाका में एक टेम्पो के Mumbai Saki Naka Rape भीतर एक महिला के साथ दुष्कर्म एवं उसपर हमले के मामले में भाजपा की प्रदेश इकाई ने आरोपी के लिए मृत्यु दंड की मांग शनिवार को की और महिलाओं की सुरक्षा के मुद्दे पर शिवसेना नीत महा विकास आघाड़ी सरकार को घेरा।

पुलिस ने बताया कि साकीनाका में एक टेम्पो के अंदर 34 वर्षीय एक महिला के साथ कथित Mumbai Saki Naka Rape तौर दुष्कर्म एवं निर्दयता से हमला किया गया। पैंतालीस वर्षीय आरोपी व्यक्ति ने पीड़िता के निजी अंगों पर लोहे की छड़ से हमला किया।

महिला की शनिवार तड़के निकाय संचालित राजावाडी अस्पताल में मौत हो गई। विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘‘साकीनाका महिला दुष्कर्म मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक अदालत में होली चाहिये ताकि आरोपी Mumbai Saki Naka Rape को जल्द से जल्द सजा मिल सके। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री (उद्धव ठाकरे) को Mumbai Saki Naka Rape बंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से मुलाकात कर उनसे इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक अदालत में कराने का आग्रह करना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पता है कि सजा सुनाने का काम न्यायपालिका का है, लेकिन मुझे ऐसा लगता है कि साकीनाका दुष्कर्म मामले के आरोपी को मौत की सजा मिलनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि साकीनाका की यह घटना 2012 के ‘निर्भया’ दुष्कर्म मामले की याद दिलाती है। पूर्व मुख्यमंत्री Mumbai Saki Naka Rape ने कहा कि महिलाओं पर हमला चिंता का विषय है।

दिल्ली में दिसंबर 2012 में, एक युवती – जिसे बाद में ‘निर्भया’ कहा Mumbai Saki Naka Rape गया – के साथ दिल्ली में चलती बस के अंदर निर्दयता से सामूहिक दुष्कर्म और हमला किया गया, जिससे पूरे देश में आक्रोश फैल गया। कई दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष के बाद अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी।

प्रस्तावित शक्ति अधिनियम के बारे में पूछे जाने पर Mumbai Saki Naka Rape उन्होंने कहा, ‘‘ मौजूदा कानून दोषियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने के लिए पर्याप्त हैं। यह राज्य की इच्छा शक्ति पर है कि वह कड़े फैसले ले और तर्कसंगत अंत तक उसका पालन करे।’’

राज्य विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर ने संवाददाताओं से Mumbai Saki Naka Rape बातचीत के दौरान इस घटना के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि इस घटना की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार पर है, क्योंकि अपराधियों में कानून का थोड़ा सा भी डर रह नहीं गया है।

महिला किस तरह के दर्द से गुजरी है, यह जानना भयावह है और वह पीड़िता की मौत से बेहद दुखी हैं। राज्य सरकार को कार्रवाई करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अगर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) इस पर कुछ कहती है तो यह आरोप लग सकता है कि Mumbai Saki Naka Rape महिलाओं के खिलाफ हिंसा पर पार्टी राजनीति कर रही है लेकिन इस तरह के मामलों की संख्या खुद ही सबकुछ बयां कर रही है।

प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष चित्रा वाघ ने अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम की तर्ज पर एक Mumbai Saki Naka Rape अधिनियम बनाने की मांग की ताकि इस तरह के अत्याचार में शामिल दोषियों को जल्दी जमानत न मिले।

इस बीच, संवाददाताओं से बातचीत में मुंबई की महापौर व शिवसेना नेता किशोरी पेडनेकर ने Mumbai Saki Naka Rape कहा, ‘‘मैं कल्पना नहीं कर पा रही हूं कि क्यों कुछ मर्द इतनी बेरहमी दिखाते हैं। मुझे जानकारी दी गई है कि पुलिस इस घटना से जुड़ी जानकारियां जुटा रही है और सबूत जमा कर रही है। कुछ समय लगेगा लेकिन सच का पता चलेगा।’’

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password