मप्र हिंसा: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने की जांच और मुआवज़े की मांग -



मप्र हिंसा: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने की जांच और मुआवज़े की मांग

भोपाल, आठ जनवरी (भाषा) कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए धन जुटाने वाली रैलियों के दौरान मध्य प्रदेश के मुस्लिम इलाकों को निशाना बनाया गया। उन्होंने हिंसा की इन घटनाओं की जांच किसी सेवानिवृत्त मुख्य सचिव या पुलिस महानिदेशक से कराने की मांग की।

दिसंबर के अंतिम सप्ताह में उज्जैन, मंदसौर और इंदौर में रैलियों के बाद कुछ स्थानों से पथराव और आगजनी की ख़बरें आई थीं।

दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘जिस तरह से (हिंसक) घटनाएं हुईं, उस पर मैं दुखी हूं। धन जुटाने के दौरान हथियार, लाठियों, तलवारों का प्रदर्शन किया गया और भड़काऊ नारे लगाये गए, खासकर इसमें मुस्लिम इलाकों को निशाना बनाया गया। मैं इसका विरोध करता हूं।’’

सिंह का यह बयान कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के इस मुद्दे पर मुख्य सचिव इक़बाल सिंह बैंस और पुलिस महानिदेशक वी के जौहरी से मुलाकात के बाद आया है।

उन्होंने कहा, ‘‘हिंदू और मुसलमान एकजुट होकर हमारे देश की आजादी के लिए लड़े। जिन लोगों ने स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा नहीं लिया, वे देश के माहौल को बिगाड़ने का काम कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उज्जैन मंदसौर और इंदौर की घटनाओं की जांच होनी चाहिए। कलेक्टर और एसपी ने इन रैलियों के लिये अनुमति क्यों दी इसके लिये कलेक्टर व एसपी को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिये। यह अजीब है कि जिन लोगों के घरों में आग लगा दी गई, जिनके ट्रैक्टर और वाहन क्षतिग्रस्त हो गए और जिन्होंने गोली के घाव खाए, उनके खिलाफ पुलिस के मामले दर्ज किए जा रहे हैं।’’

सिंह ने कहा कि हिंसा की इन घटनाओं की जांच किसी सेवानिवृत्त सीएस या डीजी से कराई जानी चाहिये और जिन लोगों का नुकसान हुआ है, उन्हें मुआवजा दिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि आईएएस अधिकारियों, पुलिस और नौकरशाही के अन्य वर्गों को संविधान को बनाए रखने के लिए काम करना चाहिए। अधिकारियों को ‘‘भाजपा या कांग्रेस के गुलाम’’ के रूप में काम नहीं करना चाहिए।

सिंह ने आगे कहा कि वह भी एक हिंदू हैं और ‘‘भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से बेहतर हिंदू’’ हैं। उन्होंने कहा कि ‘‘हमारे धर्म ने सभी के लिए शांति और सम्मान की शिक्षा दी है।’’

सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक वीडियो में कहा कि गुंडों और माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और ‘‘दिग्विजय सिंह या कोई भी’’, पत्थरबाजी या हिंसा में लिप्त लोगों को बचा नहीं पायेंगे।

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के मालवा प्रांत सचिव सोहन विश्वकर्मा ने पीटीआई-भाषा को बताया था कि उनकी धन जुटाने वाली रैलियों पर पथराव किया गया था।

भाषा दिमो अमित

अमित

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password