MP Scrub Typhus : MP में स्क्रब टाइफस की दस्तक से प्रशासन में हडकंप, स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों को किया अलर्ट

MP Scrub Typhus : MP में स्क्रब टाइफस की दस्तक से प्रशासन में हडकंप, स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों को किया अलर्ट

भोपाल। मौसमी बीमारियां वैसेे भी MP Scrub Typhus लोगों को परेशान किए हैं, mp breaking कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है ऐसे में प्रदेश में एक और खतरनाक बीमारी स्क्रब टाइफस ने दस्तक दे दी है। मध्यप्रदेश के सागर sagar , जबलपुर,jabalpur  सीधी sidhi और छतरपुर chhatarpur जिलें में स्क्रब टाइफस के मरीज सामने आने से हडकंप मच गया है।

समय पर जांच है जरूरी -medical checkup 
आपको बता दें यदि आपके शरीर में भी यदि सिरदर्द, बुखार, हाथपैर में दर्द की शिकायत के साथ शरीर पर खुजली के निशान दिख रहे हैं तो आपको सतर्क होने की जरूरत है। इस कंडीशन में बिना देरी करे तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। ताकि समय पर जांच हो सके। आमतौर पर होता यूं है कि क्योंकि आमतौर पर इस समय इलाज अच्छे से रोग पर प्रतिक्रिया दे पाता है। जब ये माइट काट लेते हैं। तो वहां पर त्वचा से काले रंग की पपड़ी उतरने लग जाती है। जिसकी मदद से डॉक्टर स्थिति का पता लगा पाते हैं। इसलिए समय पर इलाज बहुत जरूरी है।

स्क्रब टाइफस के लक्षण – Symptoms of scrub typhus

  • तेज सिरदर्द
  • बुखार आना
  • उल्टी होना
  • डाइजेस्टिव प्रॉब्लम्स
  • डंक मारने का घाव और रैशेज
  • हाथों. पैरों में बहुत अधिक दर्द
  • आंखों के आसपास दर्द महसूस होना

कैसे फैलता है स्क्रब टाइफस – How does scrub typhus spread?

आपको बता दें स्क्रब टाइफस चूहों और छछूंदरों से फैलता है। बरसात के मौसम में घरों में चूहों और छछूंदरों की संख्या बढ़ जाती है। जिससे इसके फैलने की आशंका और अधिक हो गई है। यही वजह है कि प्रशासन द्वारा इसे लेकर एलर्ट जारी कर दिया है। बता दें कि ये बीमारी पिस्सू, चूहे और छछूंदर की वजह से फैलती है। पिस्सुओं के इंसानों को काटते ही उसके लार में मौजूद जीवाणु, रिक्टिशिया, सुसुगामुशी, रक्त में फैल जाता है। इसकी वजह से लिवर, दिमाग व फेफड़ों में कई तरह के संक्रमण होने लगते हैं। इसकी पहचान काटने का निशान देखकर की जाती है। बता दें कि पिस्सू चूहे पर चिपक कर इंसानों के घरों में पहुंचते हैं। घास, फूस या झाड़ियों जैसे इलाके जहां पर चूहे रहते हैं। ऐसे क्षेत्रों के संपर्क में आने वाले लोगों को स्क्रब टाइफस फीवर हो जाता है। इसके लक्षण अचानक से विकसित होते हैं। इसलिए समय पर इलाज बहुत जरूरी है।

क्या हैं बचाव के लक्षण – What are the symptoms of prevention –

  • आपको बता दें ये स्क्रब टाइफस बीमारी बच्चों में भी तेजी से फैलती है। इसलिए बच्चों को भी साफ.सुथरे कपड़े पहनाएं।
  • अगर घर में चूहे रहते हैं तो वहां जाने से बचें। पार्क और बगीचों में झाड़ियों आसपास न रुके।
  • कपड़ों के साथ-साथ जूते चप्पल पूरी तरह से साफ सुधरे और धुले पहने।
  • धूल, मिट्टी और घास के संपर्क में आने से बचें।
  • बच्चे को बुखार आने पर उसे डॉक्टर को दिखाएं।
  • शरीर में किसी भी प्रकार की खरोच, दाने या खुजली दिखे तो वह तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करें। अपने आसपास और घर में साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें।
Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password