MP Politics: प्रदेश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के दौरे पर कमलनाथ, स्थानीय नागरिकों से की बात, भाजपा के मंत्री ने कसा तंज

शिवपुरी। प्रदेश के शिवपुरी और श्योपुर जिले में भारी बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। इन जिलों के कई गांव पानी में पूरी तरह डूब गए हैं। यहां बीते दिनों से लगातार जारी मूसलाधार बारिश में 20 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि अब इन क्षेत्रों में बारिश का कहर थमने के बाद पानी का स्तर घट रहा है। वहीं मलबे से लोगों के शव निकल रहे हैं। हाल ही में सीएम शिवराज सिंह ने पूरे बाढ़ क्षेत्र का दौरा किया था। अब शनिवार को पीसीसी चीफ कमलनाथ भी बाढ़ क्षेत्र का दौरा करने गए हैं। आज सुबह साढ़ नौ बजे कमलनाथ ग्वालियर पहुंचे। इसके बाद ग्वालियर से दतिया तक उन्होंने हवाई दौरा किया है। दतिया में रुककर उन्होंने बाढ़ पीड़ितों के परिजनों से मुलाकात की है। इसके साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर वर्तमान स्थिति और नुक़सान की जानकारी ली है।

कमलनाथ दतिया के क्षेत्रों का दौरा कर शिवपुरी के लिए निकल गए हैं। यहां पहुंचकर भी कमलनाथ बाढ़ प्रभावित गांवों का दौरा करेंगे और प्रभावित ग्रामीणों से मुलाकात करेंगे। शिवपुरी के बाद कमलनाथ श्योपुर के निकल जाएंगे। वहीं भाजपा के मंत्री तुलसी सिलावट ने कमलनाथ के दौरे पर तंज कसा है। सिलावट ने कहा कि सरकार ने बाढ़ प्रभावित गांवों का पहले ही दौरा कर लिया है। ऐसे में कमलनाथ के दौरा का क्या औचित्य है। सिलावट ने कहा कि जब कमलनाथ सीएम थे तब बाढ़ क्षेत्रों का दौरा करने नहीं गए थे। सिलावट ने कहा कि अगर कमलनाथ को सच में दौरा करना था तो हवाई जहाज से नहीं बल्कि सीएम शिवराज की तरह कार से दौरा करना था। जैसे सीएम शिवराज सिंह गांव के चप्पे-चप्पे गए हैं, वैसे ही कमलनाथ को भी जाना चाहिए।
सीएम शिवराज सिंह ने भी किया था दौरा

सीएम शिवराज सिंह ने किया था दौरा…
बता दें कि इससे पहले गुरुवार को सीएम शिवराज सिंह ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जाकर दौरा किया था। इसके साथ ही बाढ़ प्रभावित लोगों को हर संभव मदद देने का आश्वासन भी दिया था। वहीं राशन भी लोगों को दिलाया गया है। गौरतलब है प्रदेश के शिवपुरी और श्योपुर जिले में भारी बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। ग्वालियर चंबल संभाग और शिवपुरी (Heavy Rain In MP) में बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। यहां अब तक करीब 20 लोगों की मौत हो गई है। नदियों और भरे हुए स्थानों का पानी निकलने के बाद मलबे से लोगों के शव निकाले जा रहे हैं। जैसे-जैसे बाढ़ (Flood In Moorena) का पानी निकाला जा रहा है तबाही का मंजर भी दिखने लगा है। प्रशासन अब तक 20 लोगों की मौत की पुष्टि कर चुका है। इनमें शिवपुरी (Heavy Rain In MP) में 11, श्योपुर में छह और मुरैना में तीन लोगों की मौत हुई है।

इसके अलावा भिंड और दतिया (Flood In Gwalior Sambhag) में भी बाढ़ के कारण हुई मौतों की जानकारी जुटाई जा रही है। मुरैना की क्वारी नदी का पानी उतरने लगा है। यहां भारी बारिश में कई मकान गिर गए हैं। इसके साथ ही करीब 50 गांव की बिजली भी पूरी तरह खराब हो गई है। ग्रामीण क्षेत्र की 37 सड़कें अभी भी पानी में डूबी हैं। तीन पुल क्षतिग्रस्त होने से उन पर यातायात बंद है। वहीं शिवपुरी (Flood IN Shivpuri) जिले के करीब 36 गांव बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। प्रशासन द्वारा दिए गए आंकड़ों के अनुसार अब तक कुल 11 लोगों की जान चली गई है। हजारों हैक्टेयर फसल का भी नुकसान हुआ है। इसके साथ ही मौसम विभाग द्वारा लगातार भारी बारिश की चेतावनी भी दी जा रही है। इसी के चलते यहां सेना की टुकड़ियों को अभी रोक लिया गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password