हाई कोर्ट ने फिजिकल परीक्षा में फेल हुए अभ्यार्थी को दिया एक और मौका...जानिए पूरी.

MP HC verdict On Police Constable Vacancy: शारीरिक दक्षता परीक्षा में फेल होने के बाद दिया फिर से मौका

MP HC verdict On Police Vacancy

BHOPAL:हाल ही में 3 जून से आरक्षक भर्ती परीक्षा की शारीरिक परीक्षा फिर से शुरू हुई है।ऐसे में मध्यप्रदेश पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर है।एम पी हाईकोर्ट ने पुलिस आरक्षक भर्ती को बड़ा फैसला(MP HC verdict On Police Vacancy) किया है।दरअसल हाई कोर्ट ने कटनी के शारीरिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण हुए उम्मीदवार को शारीरिक दक्षता परीक्षा में फिर से शामिल करने के निर्देश दिए हैं।अब वह फिजिकल टेस्ट में दोबारा शामिल हो पाएगा और फिर से शारीरिक दक्षता परीक्षा दे पाएगा।

क्या है मामला

कटनी निवासी अंकित कुमार दुबे ने मध्यप्रदेश हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी।याचिका में मांग की गई वह लिखित परीक्षा देकर 10 मई को फिजिकल परीक्षा के लिए गया था।जहां बिना शेड के घंटो धूप में इंतजार करने के बाद नंबर आने पर उसका प्रतिकूल मैसम के चलते प्रदर्शन बिगड़ गया।इसलिए उसे एक और मौका मिलना चाहिए।साथ ही याचिकाकर्ता ने अत्यधिक गर्मी की दलील देते हुए कहा।उसी दिन सागर में एक प्रतिभागी की मौके पर मौत हो गई।इसके बाद 12 मई को जबलपुर में एक अभ्यार्थी की मौत हो गई। जाहिर सी बात है मौसम अति प्रतिकूल था।इसलिए एक और मौका दिया जाना चाहिए।MP HC verdict On Police Vacancy

क्या दिया कोर्ट ने निर्णय 

मामले में न्यायमूर्ति मनिंदर सिंह भट्टी की ग्रीष्मअवकाशकालीन एकलपीठ ने अंतरिम राहत देते हुए टेस्ट के रिजल्ट को याचिका के अंतिम निर्णय के अधीन कर दिया है।और फिजिकल टेस्ट के दिन अगले शारीरिक दक्षता परीक्षा में याचिकाकर्ता को फिर शामिल करने के निर्देश दिए।वहीं इस मामले में पीईबी,एडीजीपी,और एआईजी भोपाल को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि और भी अभ्यार्थी इस तरह की दलील लेकर अगर हाई कोर्ट जाते हैं।तो हाई कोर्ट का निर्णय क्या होगा।सभी को मौका दिया जाएगा या फिर पीईबी,एडीजीपी,और एआईजी को दिए गए नोटिस के जवाब के बाद ही कुछ कहा जाना चाहिए ।

आरक्षक के कितने पदों पर होनी है भर्ती

मध्य प्रदेश पुलिस में आरक्षक(MP Police constable Vacancy) के 6 हजार पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया चल रही है। इस भर्ती परीक्षा का आयोजन मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड आयोजित कर रहा था। इसके लिए जनवरी और फरवरी में लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी। इसके आधार पर उम्मीदवारों का चयन फिजिकल टेस्ट के लिए किया गया था। फिजिकल टेस्ट 9 मई से शुरू हुए थे, लेकिन इन दिनों पड़ रही भीषण गर्मी के कारण उम्मीदवारों को फिजिकल टेस्ट में काफी कठिनाई आ रही थी।

कहां-कहां हुईं मौतें-Police Constable Vacancy

बालाघाट निवासी 29 साल के इंदरकुमार लिल्हारे 10 मई को 800 मीटर की दौड़ पूरी करने के बाद बेहोश हो गया था। उसके नाक-कान से खून निकल रहा था। उसे गंभीर हालत में शहर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। वहां बुधवार देर रात उसकी मौत हो गई। इसके एक दिन पहले ही सिवनी निवासी 22 साल के नरेंद्र कुमार गौतम की मौत हो गई थी। वह भी 800 मीटर की दौड़ के बाद ही बेहोश हुआ था। इसके बाद उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। वह अपने माता-पिता की एकमात्र जिवित संतान था। जबलपुर में गुरुवार को भी पुलिस आरक्षक भर्ती की फिजिकल परीक्षा में 179 कैंडिडेट शामिल हुए। जबलपुर के बरेला निवासी 27 साल के शिवम सेन की दौड़ के बाद तबीयत खराब हो गई। इसके बाद उसे रांझी अस्पताल ले जाया गया। वहां से उसे विक्टोरिया रेफर कर दिया गया।

2 जून को निरस्त की गईं थी परीक्षा

दो मौतों और कई लड़कों के बीमार पड़ने की खबरों को शासन ने गंभीरता से लिया है। यह परीक्षाPolice Constable Vacancy) ऐसे समय कराई जा रही है, जब पूरा प्रदेश भीषण गर्मी और लू की चपेट में है। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र ने ट्विटर पर लिखा कि पुलिस भर्ती परीक्षा के फिजिकल टेस्ट को वर्तमान में भीषण गर्मी को देखते हुए 2 जून तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

MP HC verdict On Police Vacancy

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password