MP : कोरोना मुक्त है मप्र का यह गांव, अगर कोई गाइडलाइन तोड़ता है तो यहां भरना पड़ता है जुर्माना

Sagar

भोपाल। प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक गांव ऐसा है जहां अभी तक एक भी व्यक्ति संक्रमित नहीं हुआ है। ये गांव है सागर जिले के केसली बलॉक में स्थित जनकपुर। यहां के लोग अपनी सूझबूझ से कोरोना को मात देने की कोशिश कर रहे हैं। गांव वालों ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए परा गांव ही सील कर दिया है। इतना ही नहीं अगर गांव में कोई व्यक्ति कोरोना गाइडलाइन को तोड़ता है तो उस पर जुर्माना भी लगाया जाता है।

लोगों ने गांव में लगाया कर्फ्यू

जनकपुर के लोगों का कहना है कि सागर में लगातार बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए गांव के लोगों ने आपस में बैठक बुलायी। इसके बाद तय किया गया कि अब गांव में न कोई आएगा और न ही कोई बाहर जाएगा। गांव वालों ने खुद ही कोरोना कर्फ्यू लगा दिया और घरों में कैद हो गए। इसी का नतीजा है कि यह गांव अब तक कोरोना से सुरक्षित है।

शिफ्ट में ग्रामीण करते हैं पहरेदारी

बैठक में गांव वालों ने तय किया है कि अगर कोई व्यक्ति बिना मास्क लगाए घर से बाहर निकलता है उसे 20 रूपये का जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही गांव में भाप केंद्र और जन औषधि केंद्र भी खुलवाए गए हैं। ग्रामीण यहां रोज भाप लेने आते हैं। इतना ही नहीं गांव के बाहर जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है। अगर किसी को जाना भी पड़े तो वहां खड़े पहरेदार से अनुमति लेनी पड़ती है। गांव वालों ने ग्रामीणों को अलग-अलग शिफ्ट में पहरा देने की ड्यूटी लगाई है।

45+ गांव के लोगों ने लगवा लिया वैक्सीन

जनकपुर गांव के लोग कितने जागरूक हैं आप इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि यहां 45 प्लस 338 लोगों में से 325 लोगों ने वैक्सीन लगवा लिया है। गांव के सभी बुजुर्गों का वैक्सीनेशन हो चुका है। 1465 लोगों की आबादी वाले इस गांव में जागरूकता के कारण अभी तक एक भी व्यक्ति संक्रमित नहीं हुआ है और यह गांव कोरोना मुक्त है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password