MP Chunav: चुनाव से पहले कांग्रेस में उथल-पुथल, रीवा प्रभारी को हटाकर पटैरिया को सौंपी कमान

रीवा। प्रदेश में होने वाले तीन विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनावों (MP Upchunav) की हलचल तेज हो गई है। जहां कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। वहीं कांग्रेस में अभी आंतरिक उथल-पुथल जारी है। गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस ने रीवा जिले के प्रभारी को चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को हटा दिया है। राकेश सिंह की जगह बुंदेलखंड के वरिष्ठ नेता राजा पटैरिया (Congress Leader Raja Patairiya) को अब रीवा की जिम्मेदारी सौंपी गई है। दरअसल करीब डेढ़ महीने पहले कांग्रेस के प्रदेश के 52 जिलों के प्रभारियों (Prabhari) को लेकर विवाद उठा था। लंबे समय तक चले इस आंतरिक विवाद के बाद पीसीसी चीफ कमलनाथ (PCC Chief Kamalnath)  गुरुवार को तीन जिलों के प्रभारी बदल दिए हैं। कमलनाथ ने रीवा के प्रभारी चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी (Chaudhari Rakesh Singh Chaturvedi) को मुरैना जिले का प्रभार सौंपा है। वहीं रीवा का प्रभार बुंदेलखंड के सीनियर नेता राजा पटैरिया को सौंपा गया है।

साथ ही कमलनाथ ने पूर्व मंत्री तरुण भनोट को कटनी, हेमंत कटारे को शिवपुरी और राजेंद्र मिश्रा को टीकमगढ़ जिले का प्रभार सौंपा है। मीडिया खबरों के मुताबिक कांग्रेस ने अपनी 2023 विधानसभा की तैयारी को मद्देनजर रखते हुए सभी जिलों में 58 प्रभारी नियुक्त किए थे। इन नियुक्तियों के बाद सभी प्रभारियों को चुनावी तैयारियों को संभालने के आदेश दिए गए थे। जानकारी के मुताबिक रीवा के प्रभारी को लेकर पार्टी में अंदरूनी कलह उठने लगी थी। लंबे समय तक इन विरोध के सुरों को सुना जा रहा था। दरअसल कांग्रेस से बीजेपी में गए और फिर वापस कांग्रेस में लौटे चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को रीवा जिले का प्रभार सौंपने के बाद प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता अजय सिंह और पीसीसी चीफ कमलनाथ के बीच मतभेद की खबरें सामने आने लगी थीं। हालांकि इसके पहले खबरें आ रही थीं कि किसी के भी विरोध के बाद जिलों के प्रभारी नहीं बदले जाएंगे। अब इस बदलाव के बाद मीडिया में चर्चा है कि अजय सिंह के दबाव के बाद रीवा के प्रभारी को बदला गया है।

2023 की तैयारियां तेज…
बता दें कि प्रदेश में लंबे समय से चुनावों (MP Vidhansabha Chunav 2023) पर कोरोना का साया मंडरा रहा है। पिछले कई महीनों से प्रदेश की तीन विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव टाला जा रहा है। अब हाल ही में राज्य निर्वाचन आयोग ने भी चुनावों के आयोजन के संकेत दिए थे। इसके साथ ही नगरीय निकाय चुनाव (MP Nikay Chunav) भी आयोजित किए जाने हैं। इसके बाद विधानसभा के 2023 में भी चुनाव होना है। भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों ने चुनावों को लेकर अपनी कमर कस ली है। भाजपा ने उपचुनाव (MP Upchunav) वाली सीटों पर प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ भी लगातार बैठकें कर रहे हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password