MP By Election: मतदान के बाद चढ़ा प्रदेश का सियासी पारा, पूर्व सीएम और सीएम के बीच छिड़ा वाकयुद्ध

भोपाल। प्रदेश में तीन विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर मतदान हो चुका है। अब 2 नवंबर को मतगणना का इंतजार हो रहा है। इससे पहले ही प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। भाजपा और कांग्रेस के नेताओं के बीच वाकयुद्ध शुरू हो चुका है। सीएम शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर मतदान के दिन पैसे बांटे, गुंडागर्दी और दादागिरी के आरोप लगाए हैं। वहीं पूर्व सीएम कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह के इस बयान को हार की बौखलाहट वाला बयान बताया। बता दें कि प्रदेश की पृथ्वीपुर, रैगांव, जोबट विधानसभा और खंडवा लोकसभा सीट पर उपचुनाव कराया गया है। शनिवार को यहां मतदान किया गया था। 2 नवंबर को मतगणना की जाएगी।

यह बोले शिवराज…
सीएम शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि कांग्रेस अपनी संभावित हार से बौखला गई है। इसी के चलते कांग्रेस ने मतदान के दिन पोलिंग बूथ पर अनैतिक साधनों का इस्तेमाल किया है। कांग्रेस के नेता क्षेत्र की जनता को डरा धमका रहे हैं। इसके साथ ही सीएम शिवराज सिंह ने कांग्रेस के नेताओं पर जनता को पैसे बांटने का भी आरोप लगाया। सीएम ने कहा कि पृथ्वीपुर में कांग्रेस के नेता अनैतिक साधनों से जनता को वोट डालने से रोक रहे हैं। कांग्रेस के पोलिंग एजेंट बीजेपी के कार्यकर्ता को धमका रहे हैं। सीएम ने कहा कि जनता को डरा धमकाकर कांग्रेस चुनाव नहीं जीत सकती।

कमलनाथ ने किया पलटवार
सीएम शिवराज सिंह के बयान के बाद पीसीसी चीफ और पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी पलटवार किया है। कमलनाथ ने सीएम के बयान का जवाब देते हुए ट्वीट किया कि शिवराज सिंह ने चुनाव के कुछ ही घंटे पहले अपनी हार स्वीकार कर ली है। इसी की बौखलाहट में कांग्रेस पर झूठे और मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं। कमलनाथ ने आगे कहा कि प्रदेश से लेकर केंद्र तक भाजपा की सरकार है और गुंडागर्दी करने के आरोप कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगा रहे हैं। कमलनाथ ने कहा कि भाजपा के लोगों ने आचार संहिता के नियमों का उल्लंघन किया है। सरकारी प्रशासन और मशीनरी का दुरुपयोग किया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password