MP Big news: दिल दहला देने वाली दो घटनाएं, वीडियो देख नहीं रोक पाएंगे आंसू

MP Big news: दिल दहला देने वाली दो घटनाएं, वीडियो देख नहीं रोक पाएंगे आंसू

बंसल न्यूज। मध्यप्रदेश के इंदौर से दिल दहला देने वाली दो बड़ी खबरों सामने आईं हैं। इन खबरों के वीडियो सोशल मीडिया पर जिसने में देखे वह अपने आंसू नहीं रोक पाया। पहली घटना में खेलते वक्त एक डेढ़ साल का मासूम बच्चा बालकनी से गिर गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसकी सीसीटीवी वीडियो वायरल हुई। वहीं दूसरी घटना में एक कलयुगी बेटा अपनी 100 साल की मां को रात में सड़क पर अकेला छोड़कर भाग गया। इसका भी सीसीटीवी वीडियो वायरल हुआ। खबर में आगे पढ़िए दोनों घटनाओं की पूरी जानकारी।

मासूम की दर्दनाक मौत

 

मध्य प्रदेश के इंदौर के एमआईजी थाना क्षेत्र के रूपेश नगर में 3 साल का शशांक अपने भाई के साथ पहली मंजिल की बालकनी पर खेल रहा था। खेलते-खेलते  अचानक वह नीचे गिर गया। गंभीर रूप से घायल शशांक को तुरंत एमवाय हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां बच्चे की इलाज के दौरान सोमवार रात को मौत हो गई। वीडियो में देखा जा सकता है कि जब शशांक जमीन पर गिरा तो पड़ोस में रहने वाली एक युवती ने उसे दौड़कर उठाया। यह घटना इतनी भयावह थी कि हादसे का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। एडिशनल डीसीपी राजेश व्यास के अनुसार पुलिस जांच जुट गई है। हादसे के हर पहलू की जांच की जा रही है।

100 साल की मां को सड़क पर छोड़ा

 

इंदौर में ही एक 100 साल की बुजुर्ग मां को उसका 60 साल का इकलौता बेटा है। सड़क पर लावारिस छोड़कर भाग गया। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि बूढ़ी मां से चलते नहीं बना रहा है। फिर भी उसका बेटा उसे घसीटकर फुटपाथ पर लाया और कपड़े बिछौना फेंककर चलता बना। इस हरकत का वीडियो वायरल हो गया। जब राहगीरों ने तड़पती वृद्धा को देखा तो इसकी जानकारी पुलिस को दी। आरोपी बेटे का नाम रामेश्वर प्रजापत उम्र 60 साल है। लॉकडाउन के पहले मालवा मिल इलाके में पान की दुकान चलाता था। उसने लॉकडाउन के बाद आर्थिक तंगी के चलते अपने तीनों नौकरीपेशा बेटों को भी पत्नी समेत घर से बाहर निकाल दिया था। अपने पैतृक मकान में वह बूढ़ी मां के साथ रहता था। उस पर मां को समय पर खाना नहीं देने जैसे भी आरोप लगे हैं। शनिवार रात 10.30 बजे रामेश्वर अपनी नातिन को साथ बूढ़ी मां को पंचकुइया मुक्तिधाम के पास सड़क पर लावारिस छोड़ आया। पुलिस को सूचना मिलने पर बूढ़ी मां को पितृ पर्वत, देव ग्राम स्थित ओल्ड एज होम (वृद्धाश्रम) के संचालक यश पाराशर वृद्धाश्रम ले गए। वृद्धा के एक पोते सुमित ने वृद्धाश्रम संचालक यश से संपर्क कर दादी को वापस घर लाने की प्रक्रिया के बारे में पूछा। वृद्धाश्रम संचालक के अनुसार आश्रम में वृद्धा का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। प्रशासनिक प्रक्रिया के तहत ही परिजन वृद्धा को ले जा सकते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password