MP: टोक्यो ओलंपिक में सबसे ज्यादा जलवा दिखाएंगे मध्य प्रदेश के खिलाड़ी

tokyo olympics

भोपाल। टोक्यो में 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों के लिए मध्य प्रदेश के सर्वाधिक खिलाड़ी भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे। ओलंपिक में भागीदारी करने वाले मध्य प्रदेश से प्रशिक्षित खिलाड़ियों में एश्वर्य प्रताप सिंह तोमर (शूटिंग), प्राची यादव (पैरा कयाकिंग केनोइंग), विवेक सागर प्रसाद और नीलाकांता शर्मा (पुरूष हॉकी) सुशीला चानू, मोनिका, वन्दना कटारिया (महिला हॉकी) शामिल हैं।

ओलम्पिक में और भी कई खिलाड़ी लेंगे भाग

इसके अलावा मध्य प्रदेश से प्रशिक्षित रिजर्व खिलाड़ी के रूप में चिंकी यादव एवं सुनिधि चौहान (शूटिंग), रीना खोखर एवं ई. रजनी (महिला हॉकी) का भी चयन किया गया है। साथ ही पैरा शूटिंग खिलाड़ी रूबिना फ्रांसिस भी ओलम्पिक में भागीदारी की प्रबल दावेदार हैं। क्योंकि हाल ही में पेरू में आयोजित विश्व पैरा शूटिंग चैंपियनशिप में रूबिना फ्रांसिस ने रिकार्ड प्रदर्शन करते हुए भारत को स्वर्ण पदक के साथ ओलम्पिक कोटा भी दिलाया है।

खेल के क्षेत्र में प्रदेश को कई पुरस्कार मिल चुके हैं

मालूम हो कि मध्य प्रदेश खेलों के मामले में काफी आगे हैं। पिछले साल दिसंबर में ही फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) द्वारा मध्य प्रदेश को ‘बेस्ट स्टेट प्रमोटिंग स्पोर्टस अवार्ड’ से नवाजा गया था। इसके अलावा मप्र को खेलों के क्षेत्र में किए जा रहे कामों के लिए पूर्व में भी कई अवॉर्ड मिल चुके हैं। याटिंग एसोसियेशन ऑफ इंडिया द्वारा मध्य प्रदेश में नौकायन खेल को बढ़ावा देने के लिए नेशनल सेलिंग स्कूल भोपाल को वर्ष 2012, 2015 और 2018 में एडमिरल कोहली अवार्ड से सम्मानित किया जा गया है। वर्ष 2017 में नेशनल सेलिंग स्कूल को बेस्ट क्लब ऑफ द ईयर के अवॉर्ड से नवाजा गया।

सेलिंग खिलाड़ी हर्षिता तोमर को 2015, 2017 और 2018 में याट्स पर्सन ऑफ द ईयर, वर्ष 2017 में राम मिलन यादव और 2018 में गोविंद बैरागी को मोस्ट प्रमोसिंग ऑफ द ईयर तथा उमा चौहान को बेस्ट वूमेन सेलर का अवॉर्ड मिल चुका है। इसी तरह वर्ष 2014-15 में महिला हॉकी अकादमी ग्वालियर को हॉकी इंडिया द्वारा प्रेसीडेंट अवार्ड से भी नवाजा गया था।

हॉकी अकादमी से तैयार हो रहे हैं अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी

मालूम हो कि प्रदेश में वर्ष 2006 से महीला हॉकी अकादमी के माध्यम से खिलाड़ियों को उच्च स्तरीय प्रशिक्षण एवं खेल सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं। जिसका परिणाम है कि अकादमी से अंतर्राष्ट्रीय महिला खिलाड़ी तैयार हुई हैं। महिला हॉकी अकादमी के अलावा वर्ष 2007-08 में भोपाल में पुरूष हॉकी अकादमी की भी स्थापना की गई थी। इस अकादमी के माध्यम से भी कई अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी तैयार हुए हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password