केन-बेतवा लिंक परियोजना पर मप्र और उप्र समझौते के करीब : केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री

भोपाल, नौ जनवरी (भाषा) केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने शनिवार को कहा कि लोगों को जल्द ही केन-बेतवा नदी संपर्क परियोजना के बारे में अच्छी खबर मिलेगी क्योंकि मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सरकारें इस पर एक समझौते के करीब हैं।

शेखावत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कि दोनों राज्यों के बीच 15 साल से इस परियोजना पर चर्चा चल रही थी और अब कुछ छोटे मुद्दे बचे हैं जिनके लिए स्पष्टीकरण की जरूरत है ।

मंत्री ने कहा, ‘ अब मैं कह सकता हूं कि हम लगभग एक समझौते पर पहुंच रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि वह जल्द ही मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्रियों से मुलाकात कर इस मामले में अन्य मुद्दों को सुलझाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘नदी को जोड़ने की परियोजनाएं देश के लिए महत्वपूर्ण हैं। केन-बेतवा संपर्क परियोजना से सूखे बुंदेलखंड क्षेत्र को फायदा होगा। मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की हजारों हेक्टेयर भूमि की सिंचाई के अलावा इस योजना से 62 लाख लोगों को पीने का पानी मिलेगा।’’

उन्होंने बताया कि देश में 31 नदियों को आपस में जोड़ने की परियोजनाएं नियोजित हैं, जिनमें से पहली बार केन-बेतवा योजना उन्नत स्तर पर पहुंच गई है ।

शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों को‘‘सही गुणवत्ता’’ और ‘‘सही मात्रा’’ में पेयजल उपलब्ध कराने का संकल्प लिया है।

उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों में सभी प्रयासों के बावजूद केवल 15-16 प्रतिशत, जो कि कुछ 3.23 करोड़ घर हैं, को पानी मिलता है। जल शक्ति मंत्रालय ने सिर्फ एक साल में 3.23 करोड़ और घरों को पानी मुहैया कराया है।

भूजल दोहन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत इस मोर्चे पर सबसे आगे है इसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन हैं ।

उन्होंने कहा कि हमारा देश, अमेरिका और चीन दोनों की संयुक्त तुलना में लगभग 1.5 गुना अधिक भूजल लेता है।

इससे पहले दिन में उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर केन-बेतवा संपर्क परियोजना के साथ-साथ अटल भूजल योजना और जल जीवन मिशन के तहत विभिन्न जलापूर्ति योजनाओं पर चर्चा की ।

शेखावत ने कहा कि मध्यप्रदेश ने प्रदेश के हर ग्रामीण परिवार को पानी उपलब्ध कराने के लिए सितंबर, 2023 का लक्ष्य रखा है।

भाषा दिमो

धीरज माधव

माधव

Share This

0 Comments

Leave a Comment

केन-बेतवा लिंक परियोजना पर मप्र और उप्र समझौते के करीब : केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री

भोपाल, नौ जनवरी (भाषा) केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने शनिवार को कहा कि लोगों को जल्द ही केन-बेतवा नदी संपर्क परियोजना के बारे में अच्छी खबर मिलेगी क्योंकि मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सरकारें इस पर एक समझौते के करीब हैं।

शेखावत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कि दोनों राज्यों के बीच 15 साल से इस परियोजना पर चर्चा चल रही थी और अब कुछ छोटे मुद्दे बचे हैं जिनके लिए स्पष्टीकरण की जरूरत है ।

मंत्री ने कहा, ‘ अब मैं कह सकता हूं कि हम लगभग एक समझौते पर पहुंच रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि वह जल्द ही मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्रियों से मुलाकात कर इस मामले में अन्य मुद्दों को सुलझाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘नदी को जोड़ने की परियोजनाएं देश के लिए महत्वपूर्ण हैं। केन-बेतवा संपर्क परियोजना से सूखे बुंदेलखंड क्षेत्र को फायदा होगा। मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की हजारों हेक्टेयर भूमि की सिंचाई के अलावा इस योजना से 62 लाख लोगों को पीने का पानी मिलेगा।’’

उन्होंने बताया कि देश में 31 नदियों को आपस में जोड़ने की परियोजनाएं नियोजित हैं, जिनमें से पहली बार केन-बेतवा योजना उन्नत स्तर पर पहुंच गई है ।

शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों को‘‘सही गुणवत्ता’’ और ‘‘सही मात्रा’’ में पेयजल उपलब्ध कराने का संकल्प लिया है।

उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों में सभी प्रयासों के बावजूद केवल 15-16 प्रतिशत, जो कि कुछ 3.23 करोड़ घर हैं, को पानी मिलता है। जल शक्ति मंत्रालय ने सिर्फ एक साल में 3.23 करोड़ और घरों को पानी मुहैया कराया है।

भूजल दोहन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत इस मोर्चे पर सबसे आगे है इसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन हैं ।

उन्होंने कहा कि हमारा देश, अमेरिका और चीन दोनों की संयुक्त तुलना में लगभग 1.5 गुना अधिक भूजल लेता है।

इससे पहले दिन में उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर केन-बेतवा संपर्क परियोजना के साथ-साथ अटल भूजल योजना और जल जीवन मिशन के तहत विभिन्न जलापूर्ति योजनाओं पर चर्चा की ।

शेखावत ने कहा कि मध्यप्रदेश ने प्रदेश के हर ग्रामीण परिवार को पानी उपलब्ध कराने के लिए सितंबर, 2023 का लक्ष्य रखा है।

भाषा दिमो

धीरज माधव

माधव

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password