MP : ट्रांसपोर्टरों ने खत्म की हड़ताल, मांगों पर बनी सहमति

भोपाल। एमपी में पिछले 3 दिनों से जारी ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन की हड़ताल (Transport Strike) बुधवार को खत्म हो गई। परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के आश्वासन के बाद ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (Transport associayion) ने हड़ताल (Strike) खत्म करने का ऐलान कर दिया।

बताया जा रहा है कि सरकार ने एसोसिएशन की मांगें मान ली हैं। मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Minister Govind singh Rajput)ने बताया कि  ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के बीच सहमति बन गई। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने अपनी मांगें मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के सामने रखीं। मंत्री ने अधिकारियों के साथ बातचीत कर हड़ताल खत्म करने की अपील की। जिसके बाद  ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन हड़ताल खत्म करने पर राजी हो गए।

ट्रांसपोर्टरों की मांगों पर विचार का दिया था आश्वासन

एक दिन पहले परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत 3 दिवसीय ट्रांसपोर्ट हड़ताल Transporters Strike 2020 को बयान दिया था। ट्रांसपोर्ट हड़ताल transport strike august 2020 पर बोलते हुए परिवहन मंत्री minister govind singh rajput ने कहा था कि ट्रांसपोर्टरों की मांगों पर विचार किया जा रहा है। इससे पहले भी जब हड़ताल की थी तब उनकी मांगें मानी गई थी।

जायज मांगों को पूरा करने की कोशिश करेंगे

परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत  transport minister govind singh rajput ने कहा था कि एक प्रतिनिधिमंडल ने मुझसे मुलाकात कर ज्ञापन दिया है। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि मेरे से मुलाकात करें। हम उनकी जायज मांगों को पूरा करने की कोशिश करेंगे।

आप को बता दें किे राजधानी भोपाल में ट्रांसपोर्टरों ने अपनी मागों के लिए 3 दिवसीय हड़ताल पर थे , लेकिन आज उनकी मांगे मान ली गई जिसके बाद आज हड़ताल के तीसरे दिन ट्रांसपोर्टरों ने हड़ताल खत्म करने का फैसला किया है।

10 से 12 अगस्त तक हड़ताल का किया था एलान

ऑल इंडिया मोटर Transporters Strike ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआई एमटीसी) ने देश में 3 दिनों तक ​हड़ताल Transport Strike का फैसला किया था। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआई एमटीसी) 10 से 12 अगस्त तक हड़ताल करने की बात कही थी।

चार सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट ransport news कांग्रेस (एआई एमटीसी) ने चार सूत्रीय मांगों को लेकर यह हड़ताल की थी। 10 से 12 अगस्त तक चक्काजाम और हड़ताल के कारण लाखों वाहनों के पहिए थम गए थे। एआईएमटीसी दिल्ली के अध्यक्ष कुलतरण सिंह आटवाल का कहना था कि पदाधिकारियों की सहमति के बाद चक्काजाम कर हड़ताल पर बैठने का फैसला लिया है।

मांगे नहीं मानी जा रही है

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआई एमटीसी) का कहना है कि हमारी मांगे नहीं मानी जा रही है जिस कारण हम हड़ताल करने का फैसला किया है। एआई एमटीसी का कहना है कि सरकार को ​हमारी मांगें पूरी करनी चाहिए।

ये हैं चार सूत्रीय मांगें

1. आरटीओ सीमाओं के चेक पोस्ट खत्म किए जाएं।

2.डीजल पर वैट में कमी की जाए।

3.रोड टैक्स और गुड्स टैक्स में छह महीनों की छूट दी जाए।

4.चालकों का कोविड बीमा किया जाए।
Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password