28 मई : गृहयुद्ध के बाद ,नेपाल में 240 वर्ष पुरानी राजशाही का अंत

28 मई : गृहयुद्ध के बाद ,नेपाल में 240 वर्ष पुरानी राजशाही का अंत

नयी दिल्ली । देश और दुनिया के इतिहास में 28 मई का दिन कई कारणों से खास है। दरअसल नेपाल में 240 वर्षों से चली आ रही राजशाही का अंत इसी दिन हुआ था। एक दशक से भी अधिक समय तक चले गृहयुद्ध के बाद देश में शाह राजवंश के हाथों से देश की सत्ता जाती रही। इसके बाद से माओवादी देश की राजनीति की मुख्यधारा में शामिल हुए। 28 मई 2008 को ही नेपाल के वामपंथी दल को चुनाव में जीत मिली। तब नेपाल के तत्कालीन नरेश ज्ञानेंद्र को अपदस्थ कर देश को गणतंत्र घोषित कर दिया गया। देश-दुनिया के इतिहास में 28 मई का दिन और भी कई घटनाओं के लिए दर्ज है।

इन घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:- 1414 : खिज्र खान ने दिल्ली की सल्तनत पर कब्जा किया और सैयद वंश के शासन की नींव रखी।1883 : हिंदुत्ववादी नेता और कवि विनायक दामोदर सावरकर का जन्म। 1908 : जासूसी उपन्यास जेम्स बॉन्ड के लेखक इयान फ्लेमिंग का जन्म।1959 : दो अमेरिकी बंदरों ने अंतरिक्ष की सफल यात्रा की। 1961 : मानवाधिकारों के संरक्षण और दुनिया को इनके बारे में जागरूक करने के इरादे से लंदन में एमनेस्टी इंटरनेशनल की स्थापना की गई।

इसे 1977 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 1967 : ब्रितानी नाविक सर फ्रांसिस चिटचेस्टर 65 साल की उम्र में अकेले नाव से दुनिया का चक्कर लगाकर अपने घर पहुंचे। 1989 : मारथाकवली डेविड भारत की पहली और विश्व की दूसरी महिला ईसाई पादरी बनीं।1996 : प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस्तीफा दिया।1996 : रूस चेचेन्या को अधिकतम स्वायत्तता देने पर सहमत हुआ।1998 : पकिस्तान ने पांच भूमिगत परमाणु परिक्षण किये। 2008 : नेपाल में 240 वर्षों से चली आ रही राजशाही का अंत।2008 : अमेरिका ने पाकिस्तान परस्त आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के चार सदस्यों पर वित्तीय प्रतिबंध लगाये।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password